मनाये नववर्ष ऐसे, लोगों को नई राह मिले


नया साल  आया
खुशियां अपार लाया।।

बड़ों का आशीष
छोटों को प्यार,

मिलकर बजाये साज।
ऐसे मनाये नववर्ष आज।

ना रहे कोई दुःखी
सब के घर आये खुशी।

भूखा ना कोई सोये,
अबला ना कोई रोये।।

रहे समृद्धि और खुशहाली
आली नववर्ष आली।।

हो देश की खूब तरक्की।
आगे बढ़े मिले प्रगति।।

हर दिल में प्यार बढ़े
नफरत का बीज मिटे।

लोगों को नई राह मिले।
सब के चेहरे खूब खिले।।

- संध्या चतुर्वेदी
अहमदाबाद, गुजरात
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc