मध्यप्रदेश में भी 'नोटा' ने कांग्रेस को मुश्किल में डाला, बीजेपी को पहुंचाया 18 सीट पर फायदा




''नोटा प्रमुख रूप से केवल एक ही काम करता है एन्टीएन्कम्वेंसी से सत्ता पक्ष को बचाने का. मध्यप्रदेश में भी यही हुआ. अन्यथा पिक्चर कुछ और होती.'' 

- बलभद्र मिश्रा 



मध्यप्रदेश में 230 सीट में से 18 सीट ऐसी रहीं, जहाँ जीत के अंतर से नोटा को मिले मत अधिक रहे. इस कारण से सत्ता पक्ष बीजेपी को 7 सीट पर जीत मिल गई. यदि ये नाराज वाले मत नोटा में नहीं जाकर विपक्ष कांग्रेस के पास चले जाते तो ऐसी स्थिति में कांग्रेस को यह 8 सीट और मिल जातीं. अन्य 11 सीट जिन पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है, यदि वह वहां ज़रा और कम रह जाती तो नोटा के चक्कर में वह यह 11 सीट भी हार जाती. यानि 18 सीटों पर सीधा फायदा नोटा ने बीजेपी को पहुंचाया. 7 सीट पर जीत दर्ज करा दी. जैसा कि हम पहले से कहते रहे हैं. नोटा के कारण ही गुजरात में कांग्रेस सरकार नहीं बना सकी तो वहीं नोटा के कारण ही कर्नाटक में बीजेपी सत्ता से दूर रह गई. सोशल मीडिया पर शेयर की गई एक प्रतिक्रिया -

यह रिपोर्ट देखें साथ ही नीचे दी गई लिंक में देखें कैसे और क्या काम करता है नोटा?
और यहाँ देखें नोटा के कारण कर्नाटक में क्या हुआ था?



अब देखें मध्यप्रदेश में किन सीटों पर नोटा ने बिगाड़ा खेल 
इन 11 सीटों पर जहाँ कांग्रेस जीती अवश्य लेकिन जीत का अंतर नोटा को मिले मतों से कम था  
1. ब्यावरा 
कांग्रेस - गोवर्धन डांगी - 75569
बीजेपी - नारायण सिंह पंवार - 74743
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 826
नोटा - 1481
2. बुरहानपुर
निर्दलीय - ठाकुर सुरेन्द्र सिंह नवल सिंह (शेरा भईया) - 98561
बीजेपी - अर्चना - 93441
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 5120
नोटा - 5726
3. दमोह 
कांग्रेस - राहुल सिंह - 78997
बीजेपी - जयंत मलैया - 78199
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 798 
नोटा - 1299
4. गुन्नौर 
कांग्रेस - शिवदयाल बागरी - 57658
बीजेपी - राजेश कुमार वर्मा - 55674
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 1984 
नोटा - 3734
5. जबलपुर नॉर्थ
कांग्रेस - विनय सक्सेना - 50045
बीजेपी - शरद जैन - 49467
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 578
नोटा - 1209
6. जोबाट 
कांग्रेस - कलावती भूरिया - 46067
बीजेपी - माधोसिंह डावर - 44011
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 2056
नोटा - 5139
7. मांधाता
कांग्रेस - नारायण पटेल - 71228 
बीजेपी नरेन्द्र सिंह तोमर - 69992
उम्मीदवारो के बीच जीत का अंतर - 1236
नोटा - 1575
8. नेपानगर 
कांग्रेस - सुमित्रा देवी कासदेकर - 85320
बीजेपी - मंजू राजेंद्र दादू - 84056
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 1264
नोटा - 2551
9. पेटलावाद 
कांग्रेस वाल सिंह मेडा - 93425
बीजेपी - निर्मला दिलीप सिंह भूरिया - 88425
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 5000
नोटा - 5148
10. राजपुर 
कांग्रेस - बाला बच्चन - 85513
बीजेपी - अंतर सिंह देवी सिंह पटेल - 84581
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 932 
नोटा - 3358
11. सुवासरा 
कांग्रेस - हरदीप सिंह डांग - 93169
बीजेपी - राधेश्याम नानालाल पाटीदार - 92819
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 350
नोटा - 2976

इन 7 सीटों पर बीजेपी ने जीत अवश्य दर्ज की, लेकिन जीत का अंतर नोटा को मिले मतों से कम था   
1.  नागौद
बीजेपी - नागेंद्र सिंह - 54637
कांग्रेस - यादवेंद्र सिंह - 53403
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 1,234
नोटा - 2,301
2. बीना
बीजेपी - महेश राय - 57,828
कांग्रेस - शशि कठोरिया - 57,196
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 632
नोटा - 1,528 
3. चंदला
बीजेपी - राजेश कुमार प्रजापति - 41,227
कांग्रेस - अनुरागी हरप्रसाद - 40,050
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 1,177 
नोटा - 2695
4. गरोठ 
बीजेपी - देवीलाल धाकड़ - 75,946
कांग्रेस - सुभाष कुमार सजोतिया - 73,838
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 2,108 
नोटा - 2,474
5. इंदौर-5
बीजेपी - महेंद्र हर्दिया - 1,17,836
कांग्रेस - सत्यनारायण पटेल -1,16,703
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 1133
नोटा - 2,786
6. जावरा
बीजेपी - राजेंद्र पांडे - 64,503
कांग्रेस - केके सिंह कालुखेड़ा - 63,992
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 511
नोटा - 1,510
7. कोलारस
बीजेपी - वीरेंद्र रघुंवंशी - 72,450
कांग्रेस - महेंद्र रामसिंह यादव - 71,730
उम्मीदवारों के बीच जीत का अंतर - 720
नोटा - 5,139




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc