मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रयासों से 25 हजार मी. टन यूरिया तत्काल, आपूर्ति में आगे और तेजी आयेगी


''मुख्यमंत्री कमल नाथ के प्रयासों से केन्द्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय ने आज 25 हजार मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति तत्काल किये जाने की सहमति दी है। प्रदेश में किसानों को उनकी माँग के अनुरूप यूरिया उपलब्ध हो, इसके लिये राज्य शासन ने केन्द्र सरकार से मध्यप्रदेश को अगले 7 दिन में 10 यूरिया रेक प्राथमिकता के साथ उपलब्ध करवाये जाने का अनुरोध किया है। प्रदेश में अब तक करीब 2 लाख 15 हजार मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति हुई है। करीब 50 हजार मीट्रिक टन यूरिया प्रदेश में पहुँचने वाला है। केन्द्र सरकार ने रबी सीजन के दौरान प्रदेश को कुल 4 लाख 10 हजार मीट्रिक टन यूरिया आपूर्ति किये जाने की सहमति दी है।'' 

केन्द्रीय रसायन मंत्रालय और रेलवे मंत्रालय ने ईस्ट और वेस्ट कोस्ट को यूरिया आपूर्ति में 31 दिसम्बर तक मध्यप्रदेश के साथ राजस्थान, हरियाणा, बिहार और वेस्ट बंगाल को प्राथमिकता दिये जाने के निर्देश आज जारी कर दिये हैं। इस आदेश के बाद देश के ईस्ट और वेस्ट कोस्ट से मध्यप्रदेश में यूरिया की आपूर्ति में और तेजी आयेगी।

इसके साथ ही केन्द्रीय मंत्रालय से प्रदेश में नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड विजयपुर, गुना प्लांट से समस्त यूरिया प्रदेश को ही आवंटित किये जाने का लगातार अनुरोध किया जा रहा है। प्रदेश को पहले प्रतिदिन 6 से 7 रेक मिल रही थीं। मुख्यमंत्री कमल नाथ की केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और केन्द्रीय रसायन मंत्री सदानंद गोड़ा से चर्चा के बाद प्रदेश को अब प्रतिदिन 10 से 12 रेक यूरिया मिल रहा है।

प्रदेश में डीएपी की रेक भी मण्डीदीप में 1226 मीट्रिक टन और रतलाम रेक पाइंट में 4048 मीट्रिक टन पहुँच रही है। यूरिया और डीएपी किसानों को उनकी माँग के अनुरूप वितरित किये जाने के संबंध में जिला कलेक्टर्स को आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc