15 लाख के वादे के बाद लोकसभा जीतने अब 'कर्जमाफी' की याद, मोदी सरकार की नियत पर उठे सवाल




''15 लाख के वादे को खुद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जुमला बता दिया. ऐसे में मोदी सरकार की नियत पर सवाल खड़े किये जा रहे हैं. कहा जा रहा है, क्या ये लोक सभा चुनाव जीतने के लिए है या सच में किसानों की याद आ गई?'' 


हाल के 5 राज्यों के चुनाव में बीजेपी को भारी नुकसान उठाना पड़ा है. इनमें से 3 राज्यों में कांग्रेस की जीत के पीछे किसानों की कर्जमाफी एक बड़ा कारण माना जा रहा है. इस बात को देखते हुए अब केंद्र की मोदी सरकार भी किसानों के कर्ज माफ़ की योजना बना रही है. हालांकि लोगों का कहना है कि मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले प्रत्येक व्यक्ति को 15 लाख का वादा भी तो इसी प्रकार था, लेकिन अब उसकी हवा निकल गई. उसे खुद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जुमला बता दिया. ऐसे में मोदी सरकार की नियत पर सवाल खड़े किये जा रहे हैं. 

श्री विजय पटेल लिखते हैं कि क्या ये लोक सभा चुनाव जीतने के लिए है या सच में किसानों की याद आ गई? 






Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc