'वो ज़माना और था', बाबूलाल गौर के तेवरों ने उठाईं मोदी-शाह की जोड़ी पर उंगलियाँ




''वो ज़माना और था जब पार्टी सर्वेसर्वा हुआ करती थी. अब ज़माना और है. हम बाबूलाल गौर हैं, आडवाणी नहीं. पार्टी में पार्टी से बड़े मोदी-शाह ही नहीं और भी हैं जमाने में. कुछ इसी तर्ज पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर अपने तेवर दिखा रहे हैं.'' 
- बलभद्र मिश्रा 



मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में टिकट बंटवारे को लेकर भाजपा के अंदर जम कर संग्राम मचा हुआ है. बाबूलाल गौर दिखा रहे हैं कि वह आडवाणी नहीं. जिस प्रकार से उन्होंने पूर्व में अपने बंगले पर कहा था टिकिट यहीं बंगले पर आयेगा, पार्टी देने आयेगी. वह सच साबित हो रहा है. हाल में जब उन्होंने कहा कि टिकिट नहीं मिला तो वह गोविन्दपुरा से और उनकी बहु कृष्णा गौर हुजूर से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे, तो पार्टी में बबाल मच गया. 

इसके बाद जहाँ कांग्रेस उन्हें गोविन्दपुरा से प्रत्याशी बनाने का ख्बाब देखने लगी तो वहीं पार्टी ने साधने की कोशिश की. सूत्र बताते हैं कि उन्हें कहा गया ऐसे बयान मत दो टिकिट कृष्णा गौर को ही मिलेगा, लेकिन तीसरी सूची तक भाजपा ने अभी तक उनकी दावेदारी का एलान नहीं किया है, टिकिट नहीं मिलने पर वह धैर्य नहीं रख पा रहे हैं और आज वापिस दबाब बनाने उन्होंने और उनकी बहू कृष्णा गौर ने नामांकन फॉर्म खरीद लिया. 

बाबूलाल गौर गोविंदपुरा सीट से कृष्णा को टिकट दिलाना चाहते हैं. पिछले दिनों भाजपा ने 176 उम्मीदवारों के नामों का एलान किया था, लेकिन उसमें गोविंदपुरा सीट का नाम नहीं था. इस सीट को होल्ड पर रखा गया है. गोविंदपुरा विधानसभा सीट भाजपा का अभेद गढ़ मानी जाती है. यहां से 88 साल के बाबूलाल गौर कई दशकों तक चुने जाते रहे हैं. भाजपा का अभेद गढ़ होने के कारण इस सीट पर कई दावेदार हैं. गौर ने अपना पहला चुनाव निर्दलीय के तौर पर लड़ा था और वह इसी सीट से 10 बार विधायक बन चुके हैं. माना जा रहा है अंततः बाबूलाल गौर पार्टी को झुका कर ही दम लेंगे. 


और अंत में
यह भी कि आज कल के दौर में केंद्र में अमितशाह और म.प्र में शिवराज शहंशाह की भूमिका में हैं, यदि नहीं चली तो उनकी स्थिति भी लालकृष्ण आडवाणी व मुरली मनोहर जोशी जैसी हो जायेगी. हालांकि यह रिस्क भाजपा को भी बड़ी खतरे की घंटी साबित हो सकती है. क्योंकि बाबूलाल गौर, बाबूलाल गौर हैं, आडवाणी या मुरली मनोहर नहीं.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc