अकबर ने ताकत का गलत इस्तेमाल और जोर जबरदस्ती की -अमेरिकी महिला पत्रकार




'मी टू' अभियान के तहत यौन उत्पीड़न मामले में फंसे मोदी सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर अमेरिकी महिला पत्रकार ने रेप का आरोप लगाया तो अकबर ने कहा सहमति से संबंध बने थे, लेकिन अब एक बार फिर अमेरिकी महिला पत्रकार पल्लवी गोगोई ने इस मामले में कहा है कि 'ऐसा नहीं है, सम्बन्ध सहमति से नहीं, बल्कि जोर जबरदस्ती वाले थे.



महिला पत्रकार का कहना है कि जबरदस्ती और ताकत का गलत इस्तेमाल कर बनाए गए संबंध कभी सहमति वाले नहीं हो सकते हैं. पल्लवी गोगोई ने कहा कि एमजे अकबर बिल्कुल झूठ बोल रहे हैं. मैं अपने बयान पर अभी भी अड़ी हूं. हमारे बीच कोई भी रिश्ता कंसेंट यानी सहमति से नहीं बना था. 

नेशनल पब्लिक रेडियो (NPR) की चीफ बिजनस एडिटर पल्लवी गोगोई ने वॉशिंगटन पोस्ट में एक लेख लिख कर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद एमजे अकबर पर रेप का आरोप लगाया है. भारतीय मूल की पत्रकार पल्लवी फिलहाल अमेरिका में रहती हैं. पल्लवी गोगोई के मुताबिक 23 साल पहले जब वह 'एशियन एज' में काम करती थीं तब संपादक रहे एमजे अकबर ने उनके साथ बलात्कार किया.

लोग कह रहे हैं अकबर की बात को मान भी लिया जाए, कि सम्बन्ध सहमति वाले थे, तब भी क्या सही थे? इसके बाद एम जे अकबर और ज्यादा घिरते नजर आ रहे हैं. अकबर पर #metoo के तहत दर्जन भर महिला पत्रकार ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. 

उल्लेखनीय है #metoo में आरोप लगने के बाद मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री  एम जे अकबर को विदेश राज्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा है.


 





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc