राहुल का मोदी पर बड़ा हमला, कहा 'यह कैसा चौकीदार, चोरी करवा दी'




''राफेल मामले में मोदी जी चुप हैं. वह खुद को चौकीदार कहते हैं, लेकिन यह कैसा चौकीदार, इसी चौकीदार ने चोरी करवा दी. यहाँ बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दतिया में एक रैली में कही. उन्होंने भाजपा सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए राफेल और किसानों के मुद्दों पर केंद्र सरकार और खासकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को घेरा.''



मध्यप्रदेश चुनाव को लेकर राज्य में भारी गहमागहमी मची हुई है. राहुल गांधी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के ताबड़तोड़ दौरे जारी है. अमित शाह का दो दिन का दौरा खत्म हो चुका है. वहीं राहुल गांधी के दौरे का आज दूसरा दिन है. राहुल ने गुजरात चुनाव के दौरान कई मंदिरों में मत्था टेका था. ठीक उसी तर्ज पर वह मध्यप्रदेश में भी मंदिरों का दौरा कर रहे हैं.
  
मध्यप्रदेश दौरे के आज दूसरे दिन वह ग्वालियर में दाता बंदा छोड़ गुरुद्वारा पहुंचे और मत्था टेका. इस दौरान उनके साथ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी थे. राहुल गांधी ने अपने दो दिनों के ग्वालियर चंबल संभाग के चुनावी दौरे की शुरुआत दतिया में मां पीताम्बरा पीठ मंदिर दर्शन से की थी. यहां राहुल गांधी आधे घंटे से ज्यादा रुके और मां धूमावती के साथ ही मां पीताम्बरा की पूजा की. इस दौरान उनके साथ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे. पूजा के दौरान राहुल गांधी ने गेरुआ रंग की धोती भी पहनी. 

संकल्प यात्रा के दौरान रैली में राहुल गांधी ने राज्य और केंद्र की भाजपा सरकार पर फिर हमला बोला. राफेल के मुद्दे पर राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ उद्योगपतियों के लिए काम करते हैं. चौकीदार ने देश से पैसा छीनकर अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया. चौकीदार ने चोरी करवा दी. नरेंद्र मोदी जी ने एचएएल से कांट्रैक्ट छीना और अपने मित्र अनिल अंबानी जी को राफेल हवाई जहाज का कांट्रैक्ट दिया. आपकी जेब से पैसा निकाला और हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों की जेब में पैसा डाला.  

शिवराज चौहान को घेरते हुए राहुल ने कहा, मध्य प्रदेश कुपोषण, महिलाओं पर अत्याचार, किसानों की आत्महत्या, युवाओं की बेरोजगारी में पहले नंबर पर है और विकास में आखिरी नंबर पर है. पूरा देश इस बात को जानता है. मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री ने 21000 घोषणाएं की हैं. आपने मोदी जी के वादे सुने और उनकी सच्चाई भी देख ली है. इस बार कांग्रेस पार्टी का साथ दीजिए, हम मध्यप्रदेश का चेहरा बदलकर दिखा देंगे.

मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को मतदान होगा. मध्यप्रदेश में इस बार भाजपा और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला है. भाजपा 15 साल से सत्ता पर काबिज है और इस बार वोटरों में उसके प्रति नाराजगी देखी जा रही है. सीएम शिवराज सिंह के सामने सत्ता बचाए रखने की बड़ी चुनौती है. वहीं 15 साल से वनवास भोग रही कांग्रेस इस बार सत्ता के लिए आशान्वित है और पूरा जोर लगा रही है. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc