कब मनाई जायेगी अयोध्या में फिर से वही दीपावली?




''वह कथा सतयुग की थी और अभी चल रहा है कलयुग. कलयुग में प्रभु श्री राम को फिर से वनवास मिला है और ये वनवास आज की व्यवस्था वोट बैंक की राजनीति और अदालतों ने दिया है, जिसकी समय सीमा अवधि भी तय नहीं. पता नहीं कब अवधपुरी के लोग अपने श्री राम को पुनः उन की नगरी में देख पाएंगे, क्योंकि अयोध्या जो श्री राम की नगरी है, उसमें बावरी मस्जिद और मंदिर निर्माण का झगड़ा समाप्त होने के आसार फिलहाल दूर दूर तक नहीं दिख रहे.''



अहमदाबाद, गुजरात से संध्या चतुर्वेदी





दीपावली का त्यौहार भारतवर्ष में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है. प्राचीन मान्यता के अनुसार जब सतयुग में श्री रामचंद्र 14 वर्ष का वनवास हुआ था, तब अयोध्या वासी बहुत दुखी हो गए थे और चौदह वर्ष के लंबे अंतराल के बाद जब उन्हें प्रभु श्री राम के अपनी नगरी में पुनः आगमन का समाचार प्राप्त हुआ तो सभी बहुत प्रसन्न हुए.


कार्तिक मास की अमावस्या को प्रभु श्री राम ने अपना चौदह वर्ष का वनवास खत्म करके अयोध्या नगरी में प्रवेश किया था. इस खुशी के अवसर पर अयोध्या वासियों ने अयोध्या को दुल्हन की भांति सजाया और घर-घर में दीप दान कर अपनी खुशी को व्यक्त किया. तभी से हर वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या को दीपावली का पर्व मनाया जाता है.

यह कथा सतयुग की थी और अभी चल रहा है कलयुग. कलयुग में प्रभु श्री राम को फिर से वनवास मिला है और ये वनवास आज की व्यवस्था वोट बैंक की राजनीति और अदालतों ने दिया है, जिसकी समय सीमा अवधि भी तय नहीं. पता नहीं कब अवधपुरी के लोग अपने श्री राम को पुनः उन की नगरी में देख पाएंगे, क्योंकि अयोध्या जो श्री राम की नगरी है, उसमें बावरी मस्जिद और मंदिर निर्माण का झगड़ा समाप्त होने के आसार फिलहाल दूर दूर तक नहीं दिख रहे. 

बीजेपी सरकार 1990 से "राम लला हम आयेंगे, मंदिर वही बनायेंगे" का नारा सिर्फ और सिर्फ वोट बैंक के लिए लगाती है. जब बीजेपी सत्ता में आती है तो सारे वादे दरकिनार कर दिए जाते हैं. बेचारी जनता जो वर्षो से अपने प्रभु राम को मंदिर में देखने की आस लिए वोटिंग भी करती और केस की सुनवाई भी होती है, पर फैसला आज तक ना हुआ ना ही होता नजर आता है. 

अदालतों से "मिलती है तो सिर्फ तारीख पर तारीख." इसी आस में कितनी दीपावली निकल गईं, कितनी सरकारें आईं और निकल गईं, पर ना मस्जिद का इंसाफ हुआ, ना मंदिर को न्याय मिला. सवाल आज भी वही है कब अयोध्या में फिर से वही दीपावली मनाई जायेगी???





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc