अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा का दावा, राफेल घोटाले में मोदी व्यक्तिगत रूप से शामिल



''पूर्व केंद्रीय मंत्रियों यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी ने कहा है कि प्रधानमंत्री ने रक्षा खरीद के सभी नियमों को ताक पर रखकर इस सौदे को एकतरफा ढंग से अंतिम रूप दिया और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया।''

 -  विश्वदीपक 
राफेल लड़ाकू विमान सौदे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'व्यक्तिगत संलिप्तता' का आरोप लगाते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्रियों नेता यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री ने रक्षा खरीद के सभी नियमों को ताक पर रखकर सौदे को एकतरफा अंतिम रूप दिया और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया है। दिल्ली में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण के साथ प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी ने कहा कि सरकार ने देश के सबसे बड़े रक्षा घोटाले में मोदी की संलिप्तता को बचाने के लिए झूठ का पुलिंदा बुना है।

वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने कहा कि इस मामले में बीजेपी और सरकार ने जो भी स्पष्टीकरण दिया, उसने सरकार को झूठ के जाल में फंसाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी को यूपीए सरकार के सौदे को पलटने का कोई अधिकार नहीं था, जो कि उन लोगों द्वारा किया गया एक कठिन काम था और यह 7-8 वर्षो की मेहनत का परिणाम था।

खबर नवजीवन से
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc