PM मोदी के संसदीय क्षेत्र की ग्रामीण महिलाएं उज्ज्वला योजना का सिलेंडर लौटाने मजबूर




''वाराणसी. पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम में दिन ब दिन हो रही बेतहाशा वृद्धि ने आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दी है. खुद प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र की गरीब महिलाएं, जिन्हें उज्जवला योजना से गैस सिलेंडर मिला है, लेकिन सिलेंडर भरा नहीं पा रही हैं, ने निर्णय लिया है कि क्यों न वे यह सिलेंडर सरकार को वापिस लौटा दें.''



सामान्य लोगों को प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी की उज्ज्वला योजना के तहत मिले गरीब लोगों को गैस सिलेंडर भराना महंगा पड़ रहा है. खुद प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र की गरीब महिलाएं, जिन्हें उज्जवला योजना से गैस सिलेंडर मिला है, लेकिन सिलेंडर भरा नहीं पा रही हैं, ने निर्णय लिया है कि क्यों न वे यह सिलेंडर सरकार को वापिस लौटा दें. 

प्रदेश कांग्रेस सचिव श्वेता राय का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियम पदार्थों के भाव कम होने के बाबजूद सरकार ने गरीबों के गैस सिलेंडर के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर दी है. यह सीधे सीधे गरीबों की रसोई पर डाका डालना है. उन्होंने कहा सरकार गरीब जनता से पैसा वसूल कर अपने प्रचार पर खर्च कर जनता एके साथ विश्वासघात कर रही है. 

उन्होंने बताया एक तरफ गरीब महिलायें, किसान पेट्रोलियम पदार्थों के महंगे होने से खून के आंसू रो रहे हैं, वहीं प्रधानमन्त्री मोदी जी पेट्रोल पम्पों पर जनता के पैसे से महंगे पोस्टरों में हँसता हुआ चेहरा लगवा कर आम जनमानस के जले पर नमक छिड़क रहे हैं. 

खबर पत्रिका से ज्यादा देखें -






Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc