जबलपुर में लड़कियों के साथ पकड़े गए एसडीएम-तहसीलदार, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश


''पाटन एसडीएम पीके सेनगुप्ता और शाहपुरा तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें कुछ लोग दोनों अधिकारियों से अभद्रता कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि यह वीडियो दोनों अधिकारियों को लड़कियों के साथ पकड़ने के बाद का है. कलेक्टर छवि भारद्वाज ने मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं. अधिकारियों पर आरोप है कि वह लड़कियों के साथ पकड़े गए. 'हनीट्रेप' में फंसाए गए इस प्रकार की भी चर्चा की जा रही है.''

घटना जबलपुर के धनवंतरी नगर चौराहे की है. सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल होने के बाद घटनाक्रम सामने आया और अधिकारियों में हड़कम्प मच गया. वायरल वीडियो जबलपुर कलेक्टर के पास पहुंच गया है. कलेक्टर छवि भारद्वाज ने इस पूरे मामले की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक को लिखा है. जांच के बाद इस मामले में कार्रवाई हो सकती है. 

बताया जा रहा है कि जबलपुर,एसडीएम और तहसीलदार पर आरोप लगे थे कि उनके संबध देहव्यापार करने वाली लड़कियों से थे.  फिलहाल इस मामले में पुलिस कुछ भी कहने को तैयार नही है.  

अधिकारियों ने इसे साजिश बताया है. बताया जा रहा है कि एसडीएम पी के सेन गुप्ता और अनूप श्रीवास्तव ने जबलपुर के एक शराब ठेकेदार के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की थी और शराब ठेकेदार का एक बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर किया था. ठेकेदार राजस्व की चोरी कर रहा था, इन अधिकारियों ने ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए पुख्ता सबूत शासन तक पहुंचाएं हैं. गुस्साए ठेकेदार ने इन दोनों अधिकारियों को लड़कियों के साथ ट्रैप करने का षडयंत्र रचा. 

कलेक्टर छवि भारद्वाज का कहना है कि 
'एसडीएम एक राजपत्रित अधिकारी होते हैं उनके साथ जिस तरीके की अभद्रता की गई है वह गलत है.' 
लेकिन कलेक्टर की इस बात पर यह सवाल यह भी उठ रहा है कि आखिर एसडीएम ने इस पूरे मामले की अब तक शिकायत क्यों नहीं की. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc