राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण -प्रधानमंत्री मोदी


''दाउदी बोहरा समाज कोशिश कर रहा है कि कोई भी व्यक्ति भूखा ना सोए. यह समाज दर्जनों अस्पताल चला रहा है. यहाँ बात यहाँ दाउदी बोहरा समाज की प्रशंसा करते हुए पीएम मोदी ने कही. उन्होंने कहा कि इमाम हुसैन अमन और शांति के लिए शहीद हुए थे. शांति, सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है.''  

उन्होंने कहा कि देश में पहली बार सरकार ने स्वास्थ्य को इतनी अहमियत दी है. गुजरात सरकार के दौरान आप लोगों ने मेरा साथ दिया. बोहरा समाज शांति का संदेश देता है. कुछ सालों पहले कुपोषण से लड़ने के लिए गुजरात सरकार के दौरान मैंने सहयोग मांगा था, जिसे उन्होंने हाथों हाथ लिया और मेरा सहयोग किया.

दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से भेंट के लिये इंदौर पहुंचे मोदी ने कहा कि हमें अपने अतीत पर गर्व और वर्तमान पर विश्वास है तथा हम में उज्ज्वल भविष्य को लेकर आत्मविश्वास और संकल्प भी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय संस्कृति की विशेषता का उल्लेख करते हुए कहा कि भारतीय पूरे विश्व को अपना परिवार मानते हैं और यही खासियत दूसरे देशों से उन्हें अलग पहचान देती है.

पीएम मोदी ने कहा, महात्मा गांधी और सैयदना की मुलाकात ट्रेन में हुई और दोनों के बीच निरंतर संवाद होता रहा. दांडी यात्रा के दौरान महात्मा गांधी सैयदना साहब के घर सैफी विला में ठहरे थे. आजादी के बाद सैयदना साहब ने इस विला को देश को समर्पित कर दिया था. यहां मुझे अपनापन महसूस होता है. आज भी मेरे दरवाजे आपके परिवारजनों के लिए हमेशा खुले रहते हैं. 

इस अवसर पर उन्होंने इमाम हुसैन को भी याद किया. उन्होंने कहा कि इमाम हुसैन अमन और शांति के लिए शहीद हुए थे. शांति, सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है. अपने देश से अपनी मातृभूमि के प्रति सीख अपने प्रवचनों से देते रहे हैं. प्रधानमंत्री ने कहा, इमाम हुसैन के पवित्र संदेश को आपने अपने जीवन में उतारा है और दुनिया तक उनका पैगाम पहुंचाया है. हम पूरे विश्व को एक परिवार मानने वाले, सबको साथ लेकर चलने की परंपरा को मानने वाले लोग हैं.

उल्लेखनीय है प्रधानमंत्री ने शुक्रवार हजरत इमाम हुसैन की शहादत के स्मरणोत्सव ‘अशरा मुबारका’कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया. बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी प्रवचन कार्यक्रम में कोई प्रधानमंत्री शामिल हो रहा है. शिवराज सरकार ने सैफुद्दीन को राजकीय अतिथि का दर्जा दिया है. 

बहुत जल्द देश खुद को खुले में शौच से मुक्त कर देगा
इस अवसर पर उन्होंने इंदौर स्वच्छता आंदोलन के अगुवा बनने पर इंदौर के सभी नागरिकों को बधाई दी. उन्होंने कहा देश में स्वच्छता में न. वन के लिए यहां के प्रशासन को, यहां के मुख्यमंत्री को, उनकी टीम को हृद्यपूर्ण अभिनंदन करता हूं. उन्होंने कहा कि चार साल पहले केवल 40 प्रतिशत घरों में ही शौचालय थे. हमारी माता-बहनों को काफी तकलीफ होती थी. इतने कम समय में यह संख्या 90 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है. बहुत जल्द देश खुद को खुले में शौच से मुक्त कर देगा. उन्होंने कहा शनिवार से ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़ा शुरू हो रहा है, देश की जनता से इस अभियान से जुड़े, देश खुले में शौच की बुरी प्रवृत्ति से जल्द मुक्त होगा. 

उन्होंने मेरा हाथ चूमा वो स्पर्श आज भी मेरे साथ है -शिवराज
इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे. उन्होंने कहा, मैं उज्जैन कभी भूल नहीं सकता. यहाँ ही मुझे सैय्यदना साहब से मिलने का मौका मिला. उन्होंने मेरा हाथ चूमा वो स्पर्श आज भी मेरे साथ है.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc