भाजपा सांसद चिंतामणि की शवयात्रा निकाली, पुतला फूँका


''सुप्रीम कोर्ट के जजों के चयन पर टिप्पणी को लेकर मध्यप्रदेश के उज्जैन से भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय का करणी सेना और सपाक्स सहित आरक्षण विरोधी संगठनों ने सांकेतिक शवयात्रा निकाल कर पुतला फूँका.''  

भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय का एक पुराना वीडियो हाल में वायरल हुआ है. इसमें वह सुप्रीम कोर्ट के जजों के चयन पर टिप्पणी करते दिख रहे हैं. वीडियो में सांसद कह रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में संशोधन इसलिए किया गया, चूंकि वहां कोई अजा वर्ग का जज नहीं है. ऐसा इसलिए है, क्योंकि वहां कॉलेजियम पद्धति चलती है. इसमें जज ही जज का चयन करते हैं, सरकार नहीं. बकौल सांसद मालवीय, देश में 500 घर हैं, 500 घराने. इनमें से ही जज बन रहे हैं. कोई उनका पोता, कोई उनका बंधु... यही बन रहे हैं. सब सामान्य वर्ग के.

हालांकि, यह वीडियो करीब डेढ़ महीने पुराना और उस समय का है, जब सांसद अजा कार्यकर्ताओं की संभागीय बैठक ले रहे थे, करीब तीन मिनट के इस वायरल वीडियो में मालवीय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अजा वर्ग का न्यायाधीश इसलिए नहीं है कि क्योंकि वहां आरक्षण नहीं है. उन्होंने कहा आरक्षण दिलाने का काम भाजपा कर रही है.

वीडियो में सांसद ने यह भी कहा कि आरक्षण कोई खत्म नहीं कर सकता. आरक्षण तब तक खत्म नहीं होगा, जब तक भेदभाव है. जिस दिन उज्जैन उत्तर और दक्षिण (दोनों सामान्य वर्ग की विधानसभा सीटें) पर अजा वर्ग का उम्मीदवार जीत जाएगा, उस दिन आरक्षण की जरूरत नहीं पड़ेगी. जब समानता आ जाएगी फिर आरक्षण की बैसाखी क्यों?

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc