कड़बे वचनों के लिए प्रसिद्ध जैन मुनि तरुण सागर जी का निधन, पीएम मोदी ने जताया दु:ख


''पिछले कई दिनों से लगातार बीमार चल रहे कड़बे वचनों के लिए प्रसिद्ध देश के ख्यातिप्राप्त जैन मुनि तरुण सागर जी का निधन हो गया है. 51 साल के जैन मुनि ने एक दिन पहले ही संथारा शुरू किया था, जिसके बाद शनिवार सुबह उनका निधन हो गया. उन्होंने शाहदरा के कृष्णा नगर में अंतिम सांस ली.''

- विनोद सोनी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सहित कई बड़े नेताओं ने उनके निधन पर दु:ख जताते हुए श्रद्धांजलि दी है. प्रधानंमत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि तरुण सागर जी महाराज के अचानक निधन से दु:खी हूं. हम उन्हें हमेशा उनके उच्च विचारों और समाज के प्रति योगदान के लिए याद रखेंगे.


तरुण सागर जी महाराज को 20 दिन पहले उन्हें पीलिया हुआ था, जिसके बाद उन्हें मैक्स अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया. डॉक्टरों ने बताया कि उनके स्वास्थ्य में सुधार नहीं देखा जा रहा था. कहा जा रहा है कि जैन मुनि ने इलाज कराने से भी इन्कार कर दिया और कृष्णा नगर (दिल्ली) स्थित राधापुरी जैन मंदिर चातुर्मास स्थल पर जाने का निर्णय लिया. 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc