सवर्णों के विरोध-प्रदर्शन ने जोर पकड़ा, कल भारत बंद, मध्यप्रदेश के कई शहरों में धारा 144


''एससी-एसटी एक्ट को लेकर सवर्णों के विरोध-प्रदर्शन जोर पकड़ लिया है. मध्य प्रदेश में छह सितंबर को प्रस्तावित बंद के मद्देनजर सरकार ने सतर्कता बरतने के निर्देश दे दिये हैं. पूरे प्रदेश में चल रहे विरोध को लेकर पुलिस अलर्ट पर है और शिवपुरी के बाद मुरैना, भिंड, श्योपुर और छतरपुर के जिलाधिकारियों ने धारा 144 लगा दी गई है.''

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ मानसून सत्र में केंद्र सरकार ने एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के प्रस्ताव को पारित किया था, जिसे लेकर सवर्णों में काफी गुस्सा है, देश मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले इस मुद्दे पर सभी राजनैतिक पार्टियों को विरोध का सामना करना पड़ रहा है. सपाक्स सहित करीब 30 से 35 संगठनों के भारत बंद का एलान किया है, जो सिर्फ सोशल मीडिया पर देखने को मिल रहा है, लेकिन जिस तरह सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ अप्रैल में अनुसूचित जातियों के बंद आह्वान के बाद हिंसा के मामले हुए थे, उसे ध्यान में रखकर केंद्र सरकार ने भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने के निर्देश जारी किये हैं.

छह सितंबर को कथित बंद को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने भी हिंसा की आशंका जाहिर की है. आईजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर ने इस बारे में बयान जारी कर बताया है कि छह सितंबर को सोशल मीडिया के जरिए बंद का आह्वान अलग-अलग संगठनों ने किया है, जिसे लेकर प्रदेश भर के पुलिस अधीक्षकों को सतर्कता बरतने की हिदायत दी गई है.

जानकारी के मुताबिक खास तौर पर मध्य प्रदेश के तीन जिलों मुरैना, भिंड एवं शिवपुरी में पहले ही एहतियात बरतते हुए मंगलवार को धारा 144 लगा दी गई है, जो सात सितम्बर तक लागू रहेगी. वहीं प्रदेश के पुलिस अधिकारियों से कहा गया है कि वो संगठनों के प्रमुखों से मिलकर बातचीत कर विश्वास जीतने की कोशिश करें. वहीं सोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज लिखने वालों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc