सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से कहा 'सेफ्टी वॉल्व नहीं रहने दोगे तो प्रेशर कुकर फट जाएगा'



''प्रधानमन्त्री मोदी की ह्त्या जैसा आरोप के बाद भी सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को बड़ा झटका देते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर हिरासत में नहीं रखने के निर्देश दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि विरोध या असहमति लोकतंत्र का सेफ्टी वाल्व है, यदि आपने इसकी अनुमति नहीं दी तो विस्फोट होगा. '' 



भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में नौ महीने पुरानी जांच के सिलसिले में देशभर में छापे मारकर कई बुद्धिजीवियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने वाली महाराष्ट्र पुलिस को बुधवार को बड़ा झटका लगा. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि विरोध या असहमति लोकतंत्र का सेफ्टी वाल्व है, यदि आपने इसकी अनुमति नहीं दी तो विस्फोट होगा. भीमा कोरेगांव हिंसा के मामले में पुणे पुलिस ने 5 माओवादियों को गिरफ्तार किया था. उनसे पूछताछ कर मंगलवार को 5 और माओवादियों को गिरफ्तार किया गया था. 

मामले की सुनवाई कर रही बेंच के जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा, 'ये सभी प्रफेसर हैं। जांच के नौ महीने बाद आप उन्हें अरेस्ट कर रहे हैं।' याचिका पर सुनवाई करने वाली तीन जजों की बेंच की अध्यक्षता देश के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा कर रहे थे। तीसरे सदस्य जस्टिस ए एम खनविलकर थे। जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, 'इससे असहमति प्रभावित होती है। असहमति जताने लोकतंत्र के लिए सेफ्टी वॉल्व है। अगर आप इन सेफ्टी वॉल्व को नहीं रहने देंगे तो प्रेशर कुकर फट जाएगा।' 



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc