सिवनी जिले में दो कांग्रेस, रजनीश कांग्रेस ने सौंपा ज्ञापन, जिला कांग्रेस ने विरोध में बांटी लॉलीपॉप


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा में सिवनी जिले के केवलारी पहुंचने पर जिले में दो कांग्रेस देखने को मिलीं. एक रजनीश सिंह की कांग्रेस जो केवलारी में खड़े होकर मुख्यमंत्री का इंतजार करते रहे और उन्हें ज्ञापन सौंपा, दूसरी कांग्रेस जिले में देखने को मिली, जो 14 वर्षों से भाजपा की सरकार की नीतियों और जुमलेबाजीयों के खिलाफ विरोध करते नजर आए. 

सिवनी से विनोद सोनी की रिपोर्ट   
जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान जिले में विरोध प्रदर्शन में युवा कांग्रेस ने लोगों को टॉफी बांटकर भाजपा सरकार का जमकर विरोध किया. वहीं ज्ञापन लेने के बाद जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंच पर पहुंचे तो मंच पर पहुँचने के बाद उन्होंने कांग्रेस विधायक रजनीश हरवंश सिंह पर चुटकी भी ली और कहा कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष जूते के बंध बंधवाते हैं. यह भाजपा सरकार का मुख्यमंत्री है, उनका सम्मान करता है और हमने ज्ञापन लिया. इस पूरे घटनाक्रम में एक चीज तो पूरी तरह साफ हो गई रजनीश कांग्रेस अलग है और जिला कांग्रेस अलग.


लोगों में चर्चा है यदि कांग्रेस एक होती तो सब मिलकर भाजपा की रीति नीतियों के खिलाफ विरोध करते नजर आते, लेकिन केवलारी विधायक रजनीश सिंह को भाजपा सरकार और भाजपा के खिलाफ मुखर होकर विरोध करते कभी नहीं देखा गया. यही कारण है कि जिले में कांग्रेस दिन-ब-दिन गर्त  की ओर जा रही है. कांग्रेस के कुछ नेता अपने स्वार्थ के चक्कर में कांग्रेस की लुटिया डुबोने में लगे हुए हैं. आम चर्चा है केवलारी विधायक कांग्रेसी विधायक के जितने भी दौरा कार्यक्रम क्षेत्र में चले हैं, उनकी वीडियो क्लिप उठाकर देख ली जाए उनके द्वारा कहीं पर भी प्रदेश सरकार या मुख्यमंत्री का विरोध किया गया हो, कहीं पर भी उनके द्वारा भाजपा की कोई आलोचना या उनकी रीति नीतियों के खिलाफ खुलकर बोल बोलते नहीं देखा जाता है.

मतलब साफ है रजनीश सिंह अपनी कांग्रेस अलग रखते हैं. इसी तरह के कांग्रेसी नेताओं ने प्रदेश में कांग्रेस की लुटिया डुबोई है. अभी भी कांग्रेस के नेता नहीं जागे तो आगे क्या होगा, भगवान ही मालिक है. कांग्रेस के संगठन को इस बात पर जरूर विचार करना चाहिए. कांग्रेस में इस तरह के कौन-कौन वह नेता है, जो अपनी कांग्रेस अलग चलाते है. जिनके कारण भाजपा को पूरी तरह कांग्रेस नहीं घेर पा रही है. 

जहाँ एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस ने मुख्यमंत्री का विरोध प्रदर्शन किया और दूसरी ओर केवलारी विधायक ठाकुर रजनीश सिंह को उनके साथ खड़े होना था, लेकिन वे सीएम को आवेदन देते नजर आए. विधायक चाहते तो अपने सैंकड़ो कार्यकर्ताओं के साथ जिला कांग्रेस के साथ विरोध प्रदर्शन में सहयोगी होते. यही स्थिति रही तो प्रदेश में इस बार फिर कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो सकता है. 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc