एसडीएम का "जन जन के लाडले" पर सवालिया निशान, लोगों ने भी उड़ाया 'युवा ह्रदय सम्राट' कह कर मजाक




"जन जन के लाडले" किसे कहते हैं आप सब समझ ही गए होंगे. जी हाँ बात राजनेताओं की ही हो रही है. राजनेताओं पर इस प्रकार का करारा व्यंग्य एक एसडीएम ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है. सही है स्तर गिराओगे, तो कोई भी आप से कैसे डरेगा? और क्यों न निडरता से बात करे, सच को सच कहे. 

डिजिटल इंडिया 18 ऑनलाइन न्यूज़ डेस्क


शेयर पोस्ट में एसडीएम Janki Yadav Kukshi ने लिखा है "जन जन के लाडले" यह संबोधन सुनते सुनते चौथाई सदी निकल गई। इतने समय में जन-जन भी कुछ घट- बढ़ हुए हैं, लेकिन ऐसा क्या हुआ कि लगभग सारे "जन जन के लाडले" बदल गए? उन्होंने लिखा है कुछ के तो नामलेवा भी नहीं मिलते? 

एसडीएम जानकी यादव  निडर अधिकारी के रूप में जानी जाती हैं.  पोस्ट काफी पसंद की जा रही है और लोग जम कर कमेन्ट कर रहे हैं. 




कुछ कमेन्ट इस प्रकार हैं- 

Golu Sen जन जन के लाडले के साथ  'हजारो दिलो की धड़कन' और 'युवा ह्रदय सम्राट' ये शब्द भी बहुत चलते हैं, हा हा हा ..

Janki Yadav Kukshi जो तनके चलते थे अपनी शान-ओ-शौकत पर शमा तक नही जलती आज उनकी तुरबत पर..

Hemant Garg हजारो रंग के जला करते थे जिनके महलों में कभी फानुष झाड़ आज उनकी कब्र पर है और निशां कोई नही..

Rajkumar Saraf 'जन जन के लाडले' 5 साल में पैदा होते है उसके बाद फिर गायब हो जाते हमारे प्यारे 'जन जन के लाडले'.

Atul Dubey समय सबको उनकी ओकात दिखा देता है.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc