रथ के सामने सीना तानकर खड़ी हो गई अध्यापक संघर्ष समिति, शिवराज को कहना पड़ा 'रुकवाता हूं ई-अटेंडेंस'


''सैकड़ों अध्यापकों के हाथों में मालाओं की जगह मांगों के प्ले कार्ड देखकर मुख्यमंत्री शिवराज का मन खराब जरूर हुआ होगा, लेकिन उन्हें संघर्ष समिति के सामने झुकना पड़ा और कहना पड़ा  रुकवाता हूं ई-अटेंडेंस, शीघ्र जारी कराता हूं आदेश।''

- रोशन नेमा 

सत्ता के कानों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए संघर्ष के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं है। अध्यापक संघर्ष समिति के प्रांतीय प्रांतीय सहसंयोजक सतेंद्र तिवारी एवं महिला प्रमुख फातिमा बानों अपने सैकड़ों अध्यापकों के साथ हाथों में मांगों के प्ले कार्ड लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के रथ के आगे सीना तानकर खड़ी हो गईं। हाथों में मालाओं की जगह प्ले कार्ड देखकर मुख्यमत्री का मन थोड़ा खराब जरूर हुआ होगा, लेकिन वे संघर्ष समिति के जुझारू एवं लड़ाकू नेताओं के तेवरों को देखकर उनके करीब आए और उनसे बात की एवं मांग पत्र लिया। 

13 को उज्जैन से शुरू हुई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान अध्यापकों की ओर से दिया गया यह पहला ज्ञापन था, जो उन्हें सतना के मडवार में संघर्ष समिति ने सौंपा। संघर्ष समिति के नेताओं से मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि ई-अटेंडेंस रुकवाता हूं और संविलियन के आदेश भी शीघ्र जारी कराता हूं। हजारों  के बीच मुख्यमंत्री की ओर से दिए गए इस आश्वासन को हल्के में नहीं लिया जा सकता। मडवार में सीएम को अहसास हो गया कि यदि ई-अटेंडेंस वापस नहीं ली एवं आदेश नहीं निकाले, तब संघर्ष समिति ने यहां से जो शुरूआत की है, वह आगे बड़ी तो सीएम का भाषण देना मुश्किल हो जाएगा। मड़वार में सतेंद्र तिवारी एवं फातिमा वानों की अगुआई में सैकड़ों अध्यापक हाथों में प्ले कार्ड लहराते हुए सीएम से ई-अटेंडेंस तत्काल बंद करने तथा संविलियन के आदेश निकालने की मांग कर रहे थे, जबाव में सीएम ने कहा रुकवाता हूं ई-अटेंडेंस, शीघ्र जारी कराता हूं आदेश।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc