पीएम ने पटवारियों को देश चलाने वाला नहीं, विकास में रोढ़ा बताया


''देश नहीं चलाते, विकास में रोढ़ा बनते हैं पटवारी. लखनऊ के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी जी ने यह कह कर कि योगी सरकार ने काम में किसी तरह का अवरोध पैदा नहीं होने दिया, यहाँ तक कि पटवारी भी रोढ़ा नहीं बन सका. इस प्रकार अप्रत्यक्ष रूप से उन्होंने साफ़ साफ़ कहा है कि पटवारी विकास कार्यों में रोढ़ा बनते हैं, अड़ंगा लगाते हैं.'' 

देश पीएम चलाता है या फिर पटवारी. इस शीर्षक से पीएम की बात को समाचार पत्रों ने प्रमुखता से प्रकाशित किया है. खबर को लेकर उत्तरप्रदेश के लेखपाल सहित मध्यप्रदेश में पटवारी एवं अन्य प्रदेशों में भी अलग अलग नामों से जाने जाने वाले पटवारी भी प्रशंसा मान कर फूले नहीं समा रहे हैं और खबर वायरल हो रही है, वहीं मध्यप्रदेश जागरूक पटवारी संघ अध्यक्ष मुकुट सक्सेना ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहीं पटवारी की कोई तारीफ़ नहीं की, बल्कि लखनऊ के कार्यक्रम में उन्होंने यह कह कर कि योगी सरकार ने काम में किसी तरह का अवरोध पैदा नहीं होने दिया, यहाँ तक कि पटवारी भी रोढ़ा नहीं बन सका. इस प्रकार अप्रत्यक्ष रूप से उन्होंने साफ़ साफ़ कहा है कि पटवारी विकास कार्यों में रोढ़ा बनते हैं, अड़ंगा लगाते हैं. 

श्री सक्सेना ने कहा है कि सो बेहतर होगा कि हम इस बात से निकलें कि पटवारी देश चलाते हैं और हमारी अड़ंगा लगाने की, जो छबि बनाई जा रही है, उसके पीछे के कारणों पर आत्म-चिंतन कर उसे सुधारने की चिंता करें.  

उल्लेखनीय है प्रधानमंत्री मोदी लखनऊ में 60 हजार करोड़ की योजनाओं की नीव रख रहे थे. कार्यक्रम में औधोगिक विकास मंत्री सतीश महाना संकोच से यह बात बता रहे थे, तब प्रधानमंत्री ने कहा 60 हजार करोड़ कम नहीं होता. उन्होंने कहा यह तो सीएम योगी की कार्य कुशलता का परिणाम है कि सब कुछ ठीक ठीक हो गया. पटवारी(लेखपाल) भी रोढ़ा नहीं बना, अन्यथा एक कागज़ भी कोर्ट कचहरी में चला जाता है या पत्रकारों के हाथ लग जाता है तो काम प्रभावित हो जाता है.

मोदी जी की बात पर खुश होकर पटवारी फूले नहीं समा रहे और कुछ इस प्रकार से अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं- 

Toufeeq A Kichloo जी लिख रहे हैं ''मोदी जी भी समझ गये पटवारी की आवश्यकता को, लेकिन राज्य सरकारें नहीं समझतीं, जो पटवारी को कम वेतन देती हैं...''

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc