अवैध उत्खनन रोकने पर कोटवार को मारने वाले बंदूकों सहित पकड़े गये


-


पिपरिया. सिवनी सर्रा रेत खदान पर रेत के अवैध उत्खनन को रोकने का प्रयास करने पर ग्राम कोटवार नारायण सिंह के साथ मारपीट के आरोपी पकड़ लिए गये हैं. डंफर चालकों सहित ग्वालियर-भिंड के गुंडों ने नारायण सिंह के साथ जमकर मारपीट की थी. घटना में एक दर्जन बंदूक धारी गुंडे-बदमाशों के लिप्त होने की सूचना पुलिस को मिली थी. 

आरोपियों श्याम बिहारी शर्मा निवासी ग्वालियर, रमाकांत गुप्ता निवासी भिंड, अनिल रजक निवासी रीवा को बरेली से पिपरिया पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं. इनके पास से पुलिस को 3 बंदूक 315 की रायफल और 1 बंदूक 12 बोर सहित 38 जिंदा कारतूस जप्त किए गए हैं. TI प्रवीण कुमरे ने बताया कि यह सभी लोग सिद्ध गुरु कृपा कंस्ट्रक्शन कंपनी ग्वालियर के कर्मचारी हैं. इनके पास से 3 डम्फर और 1 पोखलेन भी जप्त की गई  है. वही मामले में अभी कई आरोपियों की तलाश चल रही है. गिरफ्तार आरोपियों पर धारा 353, 332, 386, 294, 323, 506,147, 149 के तहत कार्यवाही की जा रही है. जप्त की गई बंदूक लायसेंसी बताई गई है, जो कि सोनू व्यास अनुराग शर्मा, गंगा सिंह, अभिनय व्यास के नाम से है. इन लोगो के लाइसेंस निरस्त करने की प्रक्रिया भी पुलिस कर रही हैं.

रेत खदान के कारण हो रही राजनैतिक उठा पटक
मामले में यह भी खुलासा हुआ है कि नर्मदा नदी पर सिवनी सर्रा रेत खदान पंचायत चला रही हैं, परंतु जब से यह खदान शुरू हुई है, तब से ही स्थानीय भाजपा में काफी उठा पटक देखने को मिल रही है. भाजपा का एक गुट उक्त खदान को क्षेत्र के लोगों की आस्था से जोड़ कर बताते हुए SP के यंहा रोजाना शिकायत कर रहा है, तो वही दूसरा गुट मंत्री जी के नाम से इस खदान में अवैध उत्खनन कर इलाके में दहशत फैला रहा है. कुल मिला कर पूरे प्रकरण में सबसे ज्यादा घाटा भाजपा को ही हो रहा है.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc