राममंदिर पर राजनीति गर्म, योगी ने कहा 'थोड़ा धैर्य रखना होगा', उमा बोलीं 'अब और धैर्य नहीं'




चुनावों की आहट के साथ ही राममंदिर निर्माण को लेकर एक बार फिर राजनीति गर्म हो गई है. मुद्दे को लेकर वेदप्रकाश वेदांती महाराज, इक़बाल अंसारी फिर योगी आदित्यनाथ और अब बीजेपी की फायर ब्रांड नेता केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने बयान दिया है. उमा भारती ने राममंदिर मसले पर योगी की धैर्य रखने की सलाह को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा है वह इस मुद्दे पर धैर्य नहीं रख सकतीं, वह चाहती हैं कि राम मंदिर का निर्माण आज ही हो. 

उन्होंने कहा केंद्र और राज्य दोनों ही जगह बहुमत से हमारी सरकार है, अब मंदिर निर्माण में देरी नहीं होनी चाहिए. सरकार तो आती-जाती रहती है, लेकिन राम मंदिर का निर्माण होना भव्य बात है. जो इसके निर्माण के क्षण को गंवा देगा, वह भारत के इतिहास में अपना गौरव गंवा देगा, लेकिन अगर मंदिर निर्माण हुआ तो ये राष्ट्रीय धरोहर के लिए बड़ी बात होगी. 

हाल में सोमवार को वेदांती महाराज ने कहा था कि 2019 से पहले राम मंदिर निर्माण का काम कभी भी शुरू हो सकता है. इस पर पलटवार करते हुए बाबरी मस्जिद के पक्षकार इक़बाल अंसारी ने कहा था कि साधु-संत राम मंदिर बनाकर दिखाए. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अयोध्या दौरे के समय चर्चा में कहा था कि राम मंदिर का मामला समाधान की तरफ बढ़ रहा है, अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा. योगी ने सवाल किया कि संतों को मंदिर निर्माण को लेकर संदेह क्यों हो रहा है? उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण पूरे भारत की भावना है. उन्होंने यह भी कहा पर थोड़ा धैर्य रखना होगा. 
(डिजीटल न्यूज़ सर्विस नेटवर्क)  




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc