'PM मोदी की हत्या कराना चाहते हैं RSS और नितिन गडकरी' शेहला रशीद के ट्विट के पीछे की असली बजह




जान कर हैरान रह जायेंगे आप, बाप रे! ऐसा भी होता है..  


जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष और वामपंथी ऐक्टिविस्ट शेहला रशीद के ट्वीट कि 'राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी पर राजीव गांधी हत्याकांड स्टाइल में पीएम मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं और पुणे पुलिस के द्वारा प्रधानमंत्री की हत्या करने की साजिश की फर्जी खबर प्लाट करवाई गई है.' केवल यह बताने समझाने के लिए किया गया था कि जेएनयू के छात्रों पर जब देशद्रोह के आरोप लगाए जाते हैं, तो उन्हें कैसा महसूस होता होगा. 

जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष और वामपंथी ऐक्टिविस्ट शेहला रशीद के ट्वीट से नया विवाद खड़ा हो गया है. शेहला ने ट्वीट करके राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी पर राजीव गांधी हत्याकांड स्टाइल में पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है. शेहला के ट्वीट के बाद नितिन गडकरी ने ट्वीट करके कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है.

पुणे पुलिस ने हाल ही खुलासा किया था कि माओवादियों के द्वारा पीएम मोदी की हत्या की साजिश रची जा रही है. शेहला रशीद ने इस पर अपने ट्वीट में लिखा कि नितिन गडकरी और RSS पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह पीएम मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं, ताकि बाद में इसका आरोप मुस्लिमों और वामपंथियों पर लगा कर मुस्लिमों को मारने का मौका मिल जाए. 

शेहला के ट्वीट के बाद गडकरी ने इसके जवाब देते हुए ट्वीट किया कि बेहूदा आरोप लगाने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ मैं कानूनी कार्रवाई करूंगा. मुझ पर निजी स्वार्थों के लिए ऐसा गंभीर आरोप लगाया गया है कि मैं मोदी जी की हत्या करने की साजिश रच रहा हूं. इस पर शेहला रशीद ने फिर से ट्वीट कर लिखा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के नेता मेरे व्यंगात्मक ट्वीट पर इतना भड़क गए हैं, सोचिए उमर खालिद और उनके पिता पर क्या गुजरी होगी, जब उन पर टीवी चैनल्स ने फर्जी की खबर चलाई. बाद में इंडिया टुडे से बात करते हुए शेहला ने कहा कि यह केवल एक व्यंग्यात्मक ट्वीट था, जिसमें किसी का भी नाम ऐसे ही ले लिया गया था.'

शेहला ने कहा कि इस ट्वीट के पीछे उनका मकसद ये बताना था कि जेएनयू के छात्रों पर जब देशद्रोह के आरोप लगाए जाते हैं तो उन्हें कैसा महसूस होता होगा.' शेहला ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार की नाकामियों पर से ध्यान हटाने के लिए पुणे पुलिस के द्वारा प्रधानमंत्री की हत्या करने की साजिश की फर्जी खबर प्लाट करवाई गई है.

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को पुणे पुलिस ने भीमा-कोरेगांव हिंसा मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था. पुलिस ने आरोप लगाया था कि गिरफ्तार लोगों में से एक के दिल्ली के घर से से प्रधानमंत्री मोदी की हत्या की साजिश रचने के सबूत मिले हैं. साथ ही इन लोगों का प्रतिबंधित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) से संबंध है.




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc