मध्यप्रदेश में 52 कर्मचारी संगठनों ने थामा कांग्रेस का हाथ, कमलनाथ ने किया ये वादा



कमलनाथ ने कहा कि एक कर्मचारी को 20 लोगों को वोटर बनाना होगा. कर्मचारी चाहे तो 7 महीने कांग्रेस की सरकार बन जाएगी.

मध्यप्रदेश में सरकार बनाने की कोशिश कर रही कांग्रेस ने कर्मचारियों का दामन थाम लिया है. कमलनाथ ने भी कर्मचारियों से दूसरे वोटर को कांग्रेस का वोटर बनाने की अपील की है.पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कम समय को अपने लिए सबसे बड़ी चुनौती माना है. कम समय में सत्ता हासिल करने के लिए कमलनाथ ने कर्मचारियों का सहारा लिया है. कमलनाथ की उपस्थिति में 52 कर्मचारी संगठनों ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. कर्मचारी संगठनों के नेताओं से मुलाकात के दौरान कमलनाथ ने उनकी सभी मांगों को घोषणा पत्र में शामिल करने का ऐलान भी किया है.

कांग्रेस में मैराथन बैठकों का दौर जारी, सिंधिया ने EC की जांच पर उठाए सवाल
कमलनाथ ने कहा कि सरकार ने शासकीय कर्मचारियों को अपमानित किया है. सरकार चाहती है कि कर्मचारी भीख मांगे. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस संगठन तो काम कर रहा है, लेकिन कर्मचारी को रणनीति बनाकर काम करना होगा. आज प्रश्न कमलनाथ के भविष्य का नहीं, बल्कि कर्मचारियों के भविष्य का है.मध्य प्रदेशः 5 रुपए के लिए किसान की पीट-पीटकर कर दी हत्या!

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार चुनाव को जीतने के लिए हर हथखंडे अपना रही है, ऐसे में सभी संगठनों को कांग्रेस की मदद करनी होगी. कमलनाथ ने कहा कि एक कर्मचारी को 20 लोगों को वोटर बनाना होगा. कर्मचारी चाहे तो 7 महीने बाद कांग्रेस की सरकार बन जाएगी.वहीं सभी कर्मचारी संगठनों ने कमलनाथ पर विश्वास कर कांग्रेस का साथ देने का वादा किया है. सभी ने कमलनाथ को अपनी-अपनी मांगों से अवगत कराया.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc