हड़ताल खत्म होने के दूसरे ही दिन सरकार ने डिप्टी रेंजर और वनपाल का ग्रेड-पे बढ़ाया




मध्यप्रदेश में हड़ताल खत्म होने के दूसरे ही दिन सरकार ने डिप्टी रेंजर और वनपाल के ग्रेड-पे में सुधार कर दिया है. अब डिप्टी रेंजर को 2800 और वनपाल को 2400 ग्रेड-पे मिलेगा. दोनों को अब तक क्रमश: 2400 और 2100 रुपए ग्रेड-पे दिया जा रहा था. उधर, वनरक्षक के ग्रेड-पे में सुधार का मामला फिलहाल अटक गया है. वन विभाग इसका प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजेगा और फिर फैसला लिया जाएगा. इसमें एक हफ्ते का समय लग सकता है. 

पुलिस के समान वेतनमान सहित 14 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के वन कर्मचारी (रेंजर, डिप्टी रेंजर, वनपाल और वनरक्षक) 24 मई से हड़ताल पर थे। इस दौरान कर्मचारियों ने कई बार सरकार से मांगें पूरी करने की मांग की, लेकिन सरकार हड़ताल खत्म होने तक किसी भी मांग को पूरा करने को तैयार नहीं थी.

आखिरकार वन कर्मचारी संघ और रेंजर एसोसिएशन के पदाधिकारी बुधवार को मुख्य सचिव बीपी सिंह से मिले. श्री सिंह ने मुख्यमंत्री की मर्जी बता दी, तो कर्मचारियों ने हड़ताल खत्म करने का ऐलान कर दिया. जिसे देखते हुए गुरुवार को वित्त विभाग ने 835 डिप्टी रेंजर और 3292 वनपाल के ग्रेड-पे में सुधार के आदेश जारी कर दिए.

सूत्रों के मुताबिक 12 हजार 420 वनरक्षकों के ग्रेड-पे में सुधार का प्रस्ताव अलग से भेजा जाएगा. वन विभाग इसकी तैयारी में जुटा है. विभाग के अधिकारियों का कहना है कि प्रस्ताव पहले से चल रहा है, लेकिन अब वित्त विभाग को भेजा जा रहा है. वर्तमान में प्रशिक्षित वनरक्षकों को 1900 और अप्रशिक्षित वनरक्षकों को 1800 रुपए    ग्रेड-पे दिया जा रहा है, जबकि कर्मचारी समान ग्रेड-पे की मांग कर रहे हैं.
 
वन क्षेत्रपाल (रेंजर) के ग्रेड-पे में सुधार को लेकर सरकार फिर से मंथन करेगी. प्रदेश में 666 रेंजर हैं, जिन्हें 3600 ग्रेड-पे मिलता है और वे 4200 रुपए चाहते हैं. बुधवार को मुख्य सचिव सिंह के साथ बैठक में भी इस पर सहमति नहीं बन पाई थी. वन कर्मचारियों के मुताबिक मुख्य सचिव ने इसमें सुधार का भरोसा दिलाया है.
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc