Big Breaking News: भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारी




Breaking News:  
राष्ट्रीय संत भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारी, तत्काल इलाज के लिए बॉम्बे हॉस्पिटल ले जाया गया, लेकिन रास्ते में ही हो गई मृत्यु. सारा देश स्तब्ध. 
मध्यप्रदेश सरकार ने दिया था राज्यमंत्री का दर्जा. हालांकि उन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया था. 
पिछले वर्ष दुसरी शादी किया था. गृह कलह बताई जा रही है बजह. 

दुनिया को शांति का सन्देश देने वाले शक्श की जिन्दगी तनावों से गुजर रही थी. सोसाइड नोट मिला, लिखा 'जिन्दगी में तनाव से परेशान थे.'

@ संजय सक्सेना 
इंदौर. हमेशा सुर्ख़ियों में रहने वाले हाईप्रोफाइल संत भय्यू महाराज द्वारा खुद को गोली मारकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. इस घटना से हड़कंप मच गया है. उन्हें बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया, बताया जा रहा है कि अस्पताल लाने से पहले ही उनकी मौत हो गई थी.पुलिस की एफएसएल टीम मौके के लिए रवाना हो गई है. बड़ी संख्या में उनके अनुयायी बॉम्बे हॉस्पिटल पहुंच गए हैं.

उन्होंने दाहिनी कनपटी पर गोली मारी है, इंदौर में सिल्वर स्प्रिंग स्थित घर पर पुलिस ने इसकी पुष्टि की है. एसपी अभी घर के लिए रवाना हुए हैं. बताया जा रहा है कुछ दिनों से वो डिप्रेशन में थे, इसके पीछे पारिवारिक कलह बताई जा रही है.


बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ने हाल ही में उन्हें राज्यमंत्री का दर्जा दिया था. उनकी पत्नी माधवी का दो साल पहले निधन हो चुका है. 30 अप्रैल 2017 को शिवपुरी की डॉ. आयुषी से उन्होंने दूसरी शादी की थी. साल भर पहले ही दूसरी शादी के बाद इस खबर से पूरा देश आश्चर्य में पड़ गया है.1968 को जन्में भय्यू महाराज का असली नाम उदयसिंह देखमुख था. वे शुजालपुर के जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते थे. उनका कई हाईप्रोफाइल लोगों से संपर्क रहा है. 


वे ज्यादा चर्चा में तब आए, जब अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करवाने के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने अपना दूत बनाकर भेजा था. बाद में अन्ना ने उनके हाथ से जूस पीकर अनशन तोड़ा था. पीएम बनने के पहले गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मोदी सद्भावना उपवास पर बैठे थे, तब उपवास खुलवाने के लिए उन्होंने भय्यू महाराज को ही आमंत्रित किया था.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc