सरकार की मुसीबत 'भई गति सांप छछूंदर जैसी', बाबा ना उगलते बन रहे, ना निगलते



''भ्रष्टाचार उजागर करेंगे कंप्यूटर बाबा, छह करोड़ की संख्या के वृक्षारोपण की पोल 

खोल देने की धमकी देकर राज्यमंत्री का दर्जा पाए कंप्यूटर बाबा एक बार फिर 

सक्रीय हो रहे हैं. बाबा की ये हरकतें सरकार के लिए भस्मासुर ना बन जायें.''




@ महेश मिश्रा 

ध्यप्रदेश की सरकार में राज्यमंत्री का दर्जा पाये कंप्यूटर बाबा की राजनीति की ओर बढ़ती सरगर्मियों से इन दिनों सरकार परेशान है. शिवराज सिंह चौहान की नर्मदा यात्रा के दौरान किए गए छह करोड़ की संख्या के वृक्षारोपण की पोल खोल देने की धमकी देकर राज्यमंत्री का दर्जा पाए कंप्यूटर बाबा की हरकतें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. सरकार ने बाबा को गाड़ी भी दे दी, गनमैन भी दे दिया और अब बाबा आवास की मांग कर रहे हैं. इतना ही नहीं बाबा ने खुले आम यह बात कही है कि नर्मदा में अवैध उत्खनन हो रहा है और अब वह साधु संतों के साथ रात में जाकर रेत के अवैध उत्खनन की छापेमारी करेंगे.

बाबा ने पुलिस वालों से यह भी अपील की है कि वह डंपरों को पकड़ने के बजाय उन पोकलेन और जेसीबी को पकड़ें, जो रेत का उत्खनन करती हैं. पूरा मध्यप्रदेश यह सच जानता है कि रेत के अवैध उत्खनन में कौन-कौन रसूखदार संलिप्त हैं और ऐसे में यदि बाबा ने छापेमार कार्रवाई की, तो ऐन विधानसभा चुनाव के पहले कितने सफेदपोश बेनकाब होंगे. सरकार की मुसीबत 'भई गति सांप छछूंदर जैसी' है कि बाबा ना उगलते बन रहे हैं ना निगलते. हालांकि बाबा की यह हरकतें विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए कितना बड़ा नुकसान का सबब बनेंगी, यह तो वक्त ही बताएगा.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc