ज़िंदा जलाये गए किसान के मामले में सामाजिक संगठनों ने मृतक की पत्नि के साथ अनहोनी की संभावना जताई





''ज़िंदा जलाकर मार डाले गए किसान के मामले में SDM को ज्ञापन सौपने वाले 

सामाजिक संगठनों ने यह बताते हुए कि अपराधी दबंग और राजनैतिक पृष्ठभूमि के हैं, 

घटना की एक मात्र चक्षुदर्शी साक्षी और मृतक की पत्नि पर दबाब बनाए जाने या 

उनके साथ कोई अनहोनी की संभावना जताई है. सामाजिक संगठनों ने 

मृतक की पत्नि और परिवार को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की है.'' 


इसी के साथ सामाजिक संगठनों ने एसडीएम राजीव नन्दन श्रीवास्तव को ज्ञापन सौंप कर परिवार को पर्याप्त सुरक्षा, उचित मुआवजा तत्काल दिए जाने, परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी सहित भूमि का कब्जा दिलाये जाने की मांग की है.




राजधानी से लगे बैरसिया के गाँव परसोरिया में भूमि विवाद में ज़िंदा जलाकर मार डाले गए किसान किशोरी लाल जाटव के मामले में आज किसान सभा, सीपीआई, एसयूसीआई, एवं दलित शोषण मुक्ति मंच सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों ने कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन एसडीएम राजीव नन्दन श्रीवास्तव को सौंपा.

ज्ञापन में अपराधियों की गिरफ्तारी पर सक्रियता के लिए पुलिस व प्रशासन के लिए धन्यवाद के साथ ही अपेक्षा की गई है कि आगे भी प्रशासन नृशंश ह्त्या के खिलाफ अपराधियों को समुचित कड़ी से कड़ी सजा के लिए वैसे आवश्यक कदम उठाये. ज्ञापन में यह बताते हुए कि अपराधी दबंग और राजनैतिक पृष्ठभूमि के हैं, इसलिए घटना की एक मात्र चक्षुदर्शी साक्षी और मृतक की पत्नि पर दबाब बनाए जाने या उनके साथ कोई अनहोनी की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता, इसलिए उन्हें और परिवार को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग की गई है.

इसी के साथ पीड़ित परिवार को घोषित उचित मुआवजा तत्काल प्रदान किये जाने, परिवार के एक व्यक्ति को शासकीय नौकरी देने सहित जिस जमीन पर आरोपियों द्वारा कब्जा किया जा रहा था, उसका तत्काल परिवार को कब्जा दिलाये जाने की मांग भी की गई है.

किसान सभा के प्रदेश महासचिव प्रहलाद दास वैरागी ने बताया कि मृतक अनु.जाति/जन जाति वर्ग से तथा, उसे शासन ने शासकीय भूमि पट्टा वितरण में दी थी, लेकिन उसे कब्जा नहीं दिलाया जा सका. जमीन पर आरोपियों का ही कब्जा चला आ रहा था. पिछले वर्ष जमीन नपवा तो ली, लेकिन वह कब्जा नहीं कर सका.

उल्लेखनीय है अभी भी प्रशासन मृतक के परिवार को भूमि का कब्ज़ा नहीं दिला सका है. ज्ञापन सौपने वालों में जेसी बरई, रूप सिंह चौहान, ओमप्रकाश, मुदित भटनागर, प्रहलाद दास वैरागी आदि सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी, कार्यकर्ता शामिल थे. 
(डिजीटल न्यूज़ सर्विस नेटवर्क)  



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc