2014 के बाद हालात और ज्यादा खराब हुए -महबूबा


आरोप लगाकर गठबंधन तोड़ने के बीजेपी के फैसले पर महबूबा मुफ्ती ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है हमने एक बड़े विजन के तहत गठबंधन किया था. हमने सोचा था कि पीएम को एक बहुत बड़ा जनादेश मिला है और वह जम्मू कश्मीर के हालात के लिए कुछ काम करेंगे. हमें कई महीने लगे आपस में तालमेल बिठाने में. हमने सोचा था कि गठबंधन अच्छा चलेगा, लेकिन बीजेपी ने हम पर झूठे आरोप लगा कर गठबंधन तोड़ा. कश्मीर में 2014 के बाद हालात और ज्यादा खराब हुए. 

उन्होंने कहा कि धारा 370 पर यथास्थिति और पत्थरबाजों के खिलाफ केस वापस करने की बात पहले से तय थी. उन्होंने कहा कश्मीर में गठबंधन का एजेंडा बीजेपी के ही राममाधव ने तैयार किया था, और राजनाथ सिंह जैसे नेताओं ने इसे मंजूरी दी थी. उन्होंने कहा हमारी सरकार ने जम्मू और लद्दाख से कभी भेदभाव नहीं किया है. बीजेपी के ऐसे आरोपों की वास्तविकता का कोई आधार नहीं है. हालांकि उन्होंने यह स्वीकार किया कि घाटी में लंबे समय से उथल-पुथल रहा है. उन्होंने कहा 2014 के बाद हालात और ज्यादा खराब हुए. 

उन्होंने ट्विट कर लिखा है कि भाजपा को अपने मंत्रियों के प्रदर्शन की समीक्षा करनी चाहिए, जिन्होंने जम्मू के क्षेत्र का काफी हद तक प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने सवाल खडा किया है कि फिर भी अगर ऐसी कोई बात थी, तो पिछले 3 वर्षों के दौरान इसके बारे में कोई भी राज्य या केंद्रीय स्तर की बात क्यों नहीं की गई?

उन्होंने कहा कि हम चाहते थे कि संवाद हो. रमजान के दौरान संघर्ष विराम से लोग काफी खुश थे. पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हम आगे भी कश्मीर में संवाद और सुलह-समझौता के लिए प्रयासरत रहेंगे.
(डिजीटल न्यूज़ सर्विस नेटवर्क

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc