देश में स्वच्छता में दूसरे नंबर पर रहने वाला शहर सुरक्षा में सबसे नीचे, ना महिलाएं सुरक्षित, ना पुरुष



''भगवान भरोसे चल रही है राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था दिन में 

महिलाएं लुट रही हैं और रात में पुरुष. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा 

कि देश में दक्षता में दूसरे नंबर पर रहने वाला शहर सुरक्षा में सबसे नीचे खड़ा है.''

@शाहिद कामिल

ध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लुटेरों के हौसले इस कदर बुलंद हैं, इसका अंदाजा बीती रात देखने को मिला, जब एक प्रसिद्ध वरिष्ठ पत्रकार अरविंद शीले को लुटेरों ने अपना शिकार बनाया. वह रोज की तरह देर रात घर लौट रहे थे. कल उनको थोड़ी देर इसलिए हो गई थी कि कर्नाटक में सियासी नाटक के चलते खबरों में उलझे रहे. MP नगर स्थित कार्यालय से वह जैसे ही निकले, इसी दौरान उन्हें माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पास दो बदमाशों ने पीछे से कार में टक्कर मारी, वह इससे पहले कि कुछ समझ पाते, बदमाशों ने उन्हें आगे गाड़ी लगाकर बहस करना शुरू कर दिया. 

इसके बाद श्री शीले कार से उतरे और उनसे बात करने की कोशिश करते, इससे पहले एक बदमाश ने चाकू निकाल लिया. श्री शीले के पास रखे 11 सौ रुपए छीन लिए. उसके बाद मोबाइल पर झपट्टा मारा, लेकिन श्री शीले ने हिम्मत नहीं हारी और बदमाशों का मुकाबला किया और मोबाइल वापिस छीन लिया. इसके बाद किसी तरह से जान बचाकर निकले, लेकिन बदमाशों के हौसले बुलंद थे, वे पीछा करते-करते घर तक आए. 

घटना की जानकारी डायल 100 को दी. इसके बाद भी MP नगर पुलिस ने ना तो बदमाशों की तलाश की और ना ही पत्रकार श्री शीले से संपर्क किया. जब ठीक कल ही डीआईजी धर्मेंद्र चौधरी ने रात में गश्त बढ़ाने की बात कही थी और तैयारियों का आदेश दिया था कि वह अपने इलाके में सघन कष्ट करें, इसके बावजूद भी बदमाश कार का पीछा करते रहे और एक भी पुलिसकर्मी कहीं नजर नहीं आया. भगवान भरोसे चल रही है राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था दिन में महिलाएं लुट रही हैं और रात में पुरुष. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि देश में दक्षता में दूसरे नंबर पर रहने वाला शहर सुरक्षा में सबसे नीचे खड़ा है.

वरिष्ठ पत्रकार कार्टूनिस्ट अरविंद शीले के कुछ ख़ास कार्टून्स


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc