प्रदेश को पूरी तरह बदलने का प्रयास, नर्मदा को गंभीर, पार्वती, कालीसिंध नदियों से जोड़ा जायेगा-मुख्यमंत्री



''पहले सड़क में गड्डा है या गड्डे में सड़क, पता नहीं लगता था, लेकिन अब मध्यप्रदेश को पूरी तरह से बदलने का प्रयास किया जा रहा है. इतना ही नहीं कई बड़े काम भी सरकार करने जा रही है. इसके तहत नर्मदा नदी को गंभीर, पार्वती और कालीसिंध नदियों से जोड़ा जायेगा. मालवा क्षेत्र को हरा-भरा बनाया जायेगा.''

महेश दुबे 




भोपाल. प्रदेश में पिछले वर्षों में सिंचाई रकबे में 6 गुना बढ़ोत्तरी हुई है. पहले केवल 7 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी. आज 40 लाख हेक्टेयर में सिंचाई हो रही है. मध्यप्रदेश को पूरी तरह से बदलने का प्रयास किया जा रहा है. नर्मदा नदी को गंभीर, पार्वती और कालीसिंध नदियों से जोड़ा जायेगा. मालवा क्षेत्र को हरा-भरा बनाया जायेगा. उज्जैन जिले के गोठड़ा ग्राम में 'चलो पंचायत' कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह बात  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही है. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वर्ष 2025 तक प्रदेश के 80 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई जायेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में किसी भी गाँव का घर बिजली के बिना नहीं रहेगा, हर घर में बिजली होगी. उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में 18 हजार 800 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा है. वर्ष 2004 में केवल 2900 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होता था. श्री चौहान ने कहा कि पहले सड़क में गड्डा है या गड्डे में सड़क, पता नहीं लगता था. पिछले कुछ सालों में डेढ़ लाख किलोमीटर सड़कें प्रदेश में बनवाई गई हैं.

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश को पूरी तरह से बदलने का प्रयास किया जा रहा है. मेहनत-मजदूरी करने वाले गरीब लोगों और ढाई एकड़ तक कृषि भूमि के स्वामियों को मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना का लाभ दिया जायेगा. मध्यप्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब व्यक्ति बिना जमीन के नहीं रहेगा. प्रत्येक गरीब व्यक्ति को पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जायेगा. उन्होंने कहा कि वर्ष 2023 तक सभी गरीब परिवारों को घर दे दिया जायेगा. गरीब परिवार में 60 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति की मृत्यु होने पर 2 लाख और दुर्घटना होने पर 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी. श्री चौहान ने महिला सशक्तिकरण के प्रयासों की जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षकों की भर्ती में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण तथा पुलिस भर्ती में 33 प्रतिशत पद बेटियों के लिये आरक्षित रहेंगे.

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर गोठड़ा ग्राम में पानी की टंकी बनाने की मंजूरी दी. साथ ही, लाड़ली लक्ष्मी योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता, उज्जवला, मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना के हितग्राहियों को प्रतीकात्मक रूप से हित-लाभ वितरित किये. मुख्यमंत्री ने किसानों को स्वाइल हेल्थ-कार्ड भी वितरित किये. कार्यक्रम में सांसद डॉ. चिंतामणि मालवीय, विधायक डॉ. मोहन यादव और श्री अभिलाष पाण्डेय भी मौजूद थे.





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc