दलालों पर शिकंजा कसने किसानों के मुआवजा चेक खुद बांटेंगे विधायक



ग्रेटर नोएडा, जेवर के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने भ्रष्टाचार के सिरमौर दलालों 

पर अंकुश लगाने के लिए एक नई पहल की है. वे किसानों की जमीन के मुआवजे 

के चेकों का वितरण स्वयं कर रहे हैं. इसके लिए उन्होंने मुहिम तेज कर दी है. 

सर्वसाधारण को सूचना के लिए उन्होंने सोशल मीडिया का सहारा भी लिया है. 

उन्होने अपने फेसबुक एकाउंट के जरिए अपना संदेश वायरल किया है. इतना ही नहीं 

उन्होंने कहा है कि यदि किसी किसान से चेक दिलाने के नाम पर दलाली ले ली गई है. 

तो वे केवल दलाल का नाम बताएं. पैसे वापस कराना उनकी जिम्मेदारी है.

डिजिटल इंडिया 18 ऑनलाइन   
नोएडा. ग्रेटर नोएडा व यमुना विकास प्राधिकरण द्वारा विकास के लिए किसानों की जमीन का अधिग्रहण किया जाता है. गरीब किसानों की जमीन का उचित मुआवजा उन्हें मिले, इसके लिए उनके नामों के चैक बनाने का प्रावधान है. इन दिनों यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में जमीनों के अधिग्रहण का काम चल रहा है. यहां बड़ी-बड़ी औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के साथ ही जेवर एयरपोर्ट भी बनाया जाना है. 

अपने हाथ से बांटने लगे हैं मुआवजा के चेक 

उन्होंने बताया कि किसानों की जमीन के मुआवजे के चैक बनवाने के नाम पर एडीएम कार्यालय में दलालों की सक्रियता की खबरें विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह को सूत्रों से मिली. ये खेल लंबे समय से चलता रहा है. 2 से 5 प्रतिशत राशि किसानों से मुआवजा दिलाने की एवज में दलाल लेते रहे हैं. शायद यही वजह है कि कई ऐसे लोगों को भी पिछले दिनों मुआवजा मिल गया जो वास्तव में पात्र नहीं थे. बाहरी लोगों ने यहां जमीन लेकर काफी खेल खेला है. 
अब दलालों पर शिकंजा कसने के लिए जेवर के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने नई पहल की है. 

जनता ही आराध्य, जनता के बीच इस तरह बराबर से बैठ कर सुनते हैं समस्याएं 

उन्होने तय किया है कि जिन गांवों की जमीन के बदले किसानों को मुआवजे के चेक वितरित किए जाने हैं. वे इस काम को स्वयं अपने हाथों से करेंगे. एक एक गांव के किसान को गांव में  जाकर चैको का वितरण किया जाएगा. किसानों को भ्रष्टाचार से बचाने के लिए किये जा रहे इस प्रयास को विरोधी अर्नगल ले रहे है. इसलिए अपनी मंशा स्पष्ट करने के लिए विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने सोशल मीडिया का सहारा लिया है. 

क्षेत्र में आपका विधायक आपके द्वार योजना भी चला रखे हैं 

उन्होने अपने फेसबुक एकाउंट के जरिए अपना संदेश वायरल किया है. ठाकुर धीरेंद्र सिंह एक दबंग नेता के तौर पर उभर कर सामने आ रहे हैं. उन्होंने अपने संदेश में स्पष्ट किया है कि चैकों का वितरण स्वयं करना दलालों पर अंकुश लगाना है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा है कि यदि किसी किसान से चेक दिलाने के नाम पर दलाली ले ली गई है. तो वे केवल दलाल का नाम बताएं. पैसे वापस कराना उनकी जिम्मेदारी है. विधायक जी की इस पहल के बाद दलालों में हड़कंप मच गया है. आने वाले दिनों में इसका असर देखने को मिलेगा, हालांकि कई ग्रामीणों का कहना है कि ठाकुर धीरेंद्र सिंह जनप्रतिनिधि हैं. उनका परिवार पहले से राजनीति में सक्रिय रहा है. उनकी तीसरी पीढी इस काम को अंजाम दे रही है. 

जनहित की पहल के लिए 'डिजिटल इंडिया 18 ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल' माननीय विधायक जी को साधुवाद देता है. साथ ही यह भी बताना चाहता है कि भविष्य में इस प्रकार की कोई भी राशि, कोई भी मुआवजा, किसानों के खाते संकलित करवाए जाकर सीधे उनके खाते में पैसा ट्रांसफर कराया जाए तो और भी बेहतर होगा. 
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc