किसान हित का डंका पीटने वाली सरकार में दलालों से लुट रहे किसान


धनोरा तहसील में चल रहा दलाली का खेल तहसीलदार पर मिलीभगत का आरोप

''सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार के ही एक पदाधिकारी की, किसानों की परेशानियों वाली शिकायत पर सुनवाई नहीं हो रही, तो आम जनता की क्या बिसात? सीएम के बयान कि 'गड़बड़ी की तो उलटा लटका दूंगा' का भी धनोरा तहसीलदार पर कोई असर नहीं हुआ है. ऐसे में लोग कह रहे हैं फिर ये कैसी किसान हितैषी सरकार?''




सिवनी से विनोद सोनी    



सिवनी जिले की धनोरा तहसील दलालों के भरोसे चल रही है. इन दलालों को तहसीलदार सहदेव सिह मार्को का पूर्ण संरक्षण बताया जा रहा है. लोगों द्वारा इस बात की शिकायत केवलारी विधायक ठाकुर रजनीश सिह से भी की गई, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई, जिसके बाद अब लोगों की समस्याओं को लेकर सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार के ही एक पदाधिकारी मंडल महामंत्री बीजेपी धनोरा रूपकुमार श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को शिकायत भेजी है.  
तहसीलदार हदेव सिंह मार्को
खुद ही कर रहे
तहसील की गरिमा धूमिल

मुख्यमंत्री को भेजी गई शिकायत में बताया गया है कि सिवनी जिले की
 धनोरा तहसील मेंइन दिनों दलालों का बोलबाला है और दलाली का खेल जम कर चल रहा है. बताया जाता है कि आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र धनोरा में जब से तहसीलदार सहदेव सिहं मार्को की पदस्थापना हुई है, तब से तहसील के अधिकतर काम दलालों के माध्यम से हो रहे हैं. क्षेत्र की भोली भाली जनता अपने काम के लिए तहसील के चक्कर काटती रहती है, लेकिन छोटे छोटे, सामान्य कामों के लिए भी लोगों से तब तक तहसील के चक्कर पे चक्कर लगवाये जाते हैं, जब तक कि वे दलालों के माध्यम से दलाली चुका कर नहीं आते. इससे उनमें भारी रोष देखा जा रहा है. मामले को लेकर बीजेपी के मंडल महामंत्री धनोरा रूपकुमार श्रीवास्तव ने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान को लिखित शिकायत की है. 

शिकायत में बताया गया है कि क्षेत्र की जनता तहसील में सक्रिय दलालों की दलाली से परेशान है. और उनसे मिलीभगत कर तहसीलदार सहदेव सिंह मार्को खुद ही तहसील की गरिमा धूमिल कर रहे हैं. तहसील के अधिकतर कार्य प्राइवेट व्यक्तियों से कराए जा रहे हैं. और बाबुओं के समक्ष न्यायालय में बैठकर न केवल उनके आवेदन ले रहे हैं बल्कि पेशियां लेकर ऑर्डर सीट तक लिख रहे हैं. जिसके प्रमाण तहसील परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों में देखे जा सकते हैं. 

शिकायत में बताया गया है कि पूरा खेल अधिकारी के संरक्षण में चल रहा है और वे दलालों का सहयोग करते हैं, जिससे विभाग की छबि धूमिल हो रही है. साथ ही अधिकारियों के प्रति जनता का नजरिया नकारात्मक बन रहा है. तहसील में प्राईवेट व्यक्ति ऑपरेटर और बड़े बाबू तक बने बैठे देखे जा सकते हैं. तहसील की गुप्त जानकारियां भी इन प्राइवेट लोगों के पास रहती हैं. मामले की शिकायत केवलारी विधायक से भी लोगों ने की, लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला. 



कुछ माह पहले भी स्थानीय समाचार पत्रों में तहसीलदार की संदेहास्पद कार्य प्रणाली और तहसील में तहसील कार्यालय का नाम तक नहीं लिखा होने की खबर आई तो कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लिया और तहसील भवन में कार्यालय का नाम अंकित कराया. तहसील में तहसील कार्यालय का नाम नहीं होने से 47 ग्राम पंचायतों के लोग अपनी समस्याओं को लेकर धनोरा मुख्यालय तो आ जाते थे, परन्तु कार्यालय की जानकारी न होने पर भटकते रहते थे, जिन्हें दलाल अपने चंगुल में फसा लेते थे और काम करवाने के लिए मोटी रकम लेते रहे. कलेक्टर की कार्यवाही के बाद कुछ दिन ठीक चला, लेकिन अब फिर से वही स्थिति निर्मित हो गई है. 

उल्लेखनीय है कि प्रदेश भर में किसान हित का डंका पीटने वाली सरकार में सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार के ही एक पदाधिकारी की, किसानों की परेशानियों वाली शिकायत पर सुनवाई नहीं हो रही, तो आम जनता की क्या बिसात? सीएम के बयान कि 'गड़बड़ी की तो उलटा लटका दूंगा' का भी धनोरा तहसीलदार पर कोई असर नहीं हुआ है. ऐसे में लोग कह रहे हैं फिर ये कैसी किसान हितैषी सरकार?
किसान हित का डंका पीटने वाली सरकार में सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार के ही एक पदाधिकारी की, किसानों की परेशानियों वाली शिकायत पर सुनवाई नहीं हो रही

मंत्री जी ने कहा '
समस्या है भी तो दबाये रखो, चुनाव का मौसम है', 


सलाह पर कार्यकर्ताओं ने दी प्रतिक्रिया, कहा ''वाह मंत्री जी, बहुत खूब.' 

उल्लेखनीय है कि हाल में सरकार के एक कैबिनेट मंत्री नारायण सिंह कुशवाह ने मुरैना में बीजेपी कार्यकर्ताओं को सलाह दी थी कि 'अफसर नहीं सुन रहे हों, आपका कोई काम नहीं कर रहे हों, तब भी नाराजगी सोशल मीडिया पर जाहिर न करें.' यह ख़ास सलाह के पीछे बजह बताई गई थी कि 'समस्या है भी तो दबाये रखो, चुनाव का मौसम है', लेकिन मंत्री जी आप बताएं, जब कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही हो, तो ये कार्यकर्ता कहाँ जाएँ?
देखें खबर - 
समस्या है भी तो दबाये रखो, चुनाव का मौसम है 




Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc