कर्नाटक में किंगमेकर जेडीएस के सपोर्ट से कांग्रेस की बनेगी सरकार

ओपिनियन पोल 



सर्वे में मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पहली पसंद

कर्नाटक में सियासी संग्राम का पारा चढ़ा हुआ है. देश के 20 राज्यों में सत्ता के शिखर पर बैठी एनडीए कर्नाटक में सरकार बनाने पूरी ताकत झोंक रही है. कांग्रस भी अपनी सरकार बनी रहने का दावा कर रही है, लेकिन इस बार जीत का सेहरा किसके सर बंधेगा, कौन बाजी मारेगा, इस पर पूरे देश की निगाहें टिकी हुई हैं और इस सवाल का जवाब तो 15 मई को मिलेगा, लेकिन ओपिनियन पोल बता रहा है कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस से मिलकर सरकार बना सकती है. पोल में औसत बीजेपी और कांग्रेस दोनों को ही पूर्ण बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है, तो वहीं पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की पार्टी जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) किंगमेकर साबित होगी. 

सोमवार (23 अप्रैल) को 5  बड़े ओपिनियन पोल में से 4 बता रहे हैं कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिल रहा है. वहीं पाँचों पोल का औसत देखें तो कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार बन रही है. हालांकि इसमें जेडीएस किंगमेकर की भूमिका में होगी. एक एजेंसी के ओपिनियन पोल में राज्य में त्रिशंकु विधानसभा की भविष्यवाणी की गई है.  

टाइम्स नाउ और वीएमआर सर्वे के आंकड़ों में भी बहुत अंतर नहीं देखा जा रहा है, लेकिन इस सर्वे में बीजेपी के मुकाबले कांग्रेस के पक्ष में ज्यादा सीटें जाने की भविष्यवाणी की गई है. इस सर्वे के मुताबिक बीजेपी को 89, कांग्रेस को 91 और जेडीएस को 40 सीटें मिल सकती हैं. सर्वे में कहा गया है कि त्रिशंकु विधासभा की सूरत में बीजेपी और कांग्रेस सरकार बनाने के लिए जेडीएस से गठबंधन की उम्मीद करेंगी.

इंडिया टुडे और कावेरी ओपिनियन पोल में कांग्रेस को 90-91 सीटें, बीजेपी को 76-86 सीटें और जेडीएस को 34-43 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की गई है. इस सर्वे में वोट शेयर के मामले में कांग्रेस को 37 फीसदी, बीजेपी को 35 फीसदी और जेडीएस को 19 फीसदी वोट मिल सकते हैं. सी-फॉर ओपिनियन पोल में 2013 के मुकाबले 2018 के चुनाव में कांग्रेस की भारी जीत की भविष्यवाणी की गई है. सर्वे में कहा गया है कि राज्य में कांग्रेस को 46 फीसदी वोट यानी 126 सीटें मिल सकती हैं. बीजेपी को 31 फीसदी वोट शेयर के साथ 70 सीटें मिल सकती हैं. वहीं 16 फीसदी वोट शेयर के साथ जेडीएस 27 सीटें अपने खाते में डाल सकती है.

टीवी 9-सी वोटर सर्वे में कहा गया है कि जेडीएस 25 सीटें जीत सकती है और किंगमेकर की भूमिका निभा सकती है. इस सर्वे में कांग्रेस को सबसे बड़ी पार्टी बताया गया है, जो कि 102 सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है. सर्वे के मुताबिक बीजेपी के खाते में 96 सीटें आ सकती हैं. वर्तमान में कांग्रेस के पास 122 सीटें, बीजेपी के पास 40 सीटें और जेडीएस के पास 40 सीटें हैं.

वहीं एबीपी न्यूज और लोकनीति सीएसडीएस के ओपिनियन पोल में कहा गया है कि बीजेपी को सबसे ज्यादा वोट मिल सकते हैं, लेकिन उसके मुकाबले कांग्रेस को 2 फीसदी कम वोट मिलेंगे. सर्वे में कहा गया है कि कांग्रेस के सिद्धारमैया मुख्यमंत्री के तौर पर सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले उम्मीदवार हैं, जबकि भाजपा के बीएस येदियुरप्पा का नाम इस मामले में दूसरा है. इस सर्वे के मुताबिक राज्य की 224 विधानसभा सीटों में से बीजेपी को 89 से 95 सीटें तक मिल सकती हैं, कांग्रेस को 85 से 91 सीटें मिल सकती हैं, जबकि जेडीएस को 32 से 38 सीटें मिलने की बात कही गई है. सर्वे 13 से 18 अप्रैल के बीच 56 विधानसभा सीटों के 224 बूथों पर जाकर 3737 लोगों से बात करके किया गया है. 


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc