न्याय यूं ही नहीं मिलता लड़ना होता है, मशीन में दब कर मरे मजदूर की मदद, दोषियों पर कार्यवाही के लिए पीएमओ ने लिखा




अपने साथ हुए अत्याचार, अपराध के खिलाफ यूं ही न्याय नहीं मिलता लड़ना होता है. तब ही सफलता मिलती है. फरवरी माह में अर्जुन श्रीवास्तव की बलबीर मिल, सिलवासा, दादर नगर हवेली, में मजदूरी कार्य करते समय दु:खद दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी. दु:खद पहलू यह था कि समुचित कार्यवाही, समुचित मुआबजा व कम्पनी की लापरवाही के खिलाफ मुकद्दमा कराने के लिए परिवार ने हर जगह गुहार लगाई, पर गरीब मज़दूर अर्जुन श्रीवास्तव के परिवार की कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई, लेकिन वह हार नहीं माना और उसके 1 माह बाद एक दिन कार्यस्थ सेना कार्यालय पर सम्पर्क किया. 

कार्यस्थ सेना  के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेंद्र कुलश्रेष्ठ ने बात को सुना और कार्यवाही के लिए प्रधान मंत्री, श्रममंत्री भारत सरकार, मुख्यमंत्री महाराष्ट्र, श्रम आयुक्त केंद्र सरकार व महाराष्ट्र को समुचित क्षति पूर्ति, कम्पनी की लापरवाही पर मुकद्दमा व पीड़ित के फंड, पेंशन परिवार के एक व्यक्ति को नोकरी के लिए पत्र इत्यादि द्वारा सम्पर्क किया. 


श्री कुलश्रेष्ठ ने बताया कि मामले में पीएमओ ने संज्ञान लिया है. साथ ही संतोषजनक बात है कि मुकद्दमा लिखने से क्षति पूर्ति तक के लिए सभी सम्बन्धित विभागों द्वारा परिवार से सम्पर्क किया जा रहा है. उन्होंने मामले को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया, जिसे पढ़कर परिवार की आर्थिक मदद के लिए हाथ आगे बढ़े हैं.

मामले में उचित कार्यवाही के लिए पीएमओ से पत्र जारी हुआ है. हालांकि ऐसे पत्रों पर कितनी कार्यवाही होती है, यह हम सब जानते हैं. फिर भी उम्मीद करते हैं कि पीड़ित परिवार के साथ न्याय हो. 


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc