किसान सम्मान यात्रा में नहीं जुटी भीड़ तो प्रदेश अध्यक्ष के सामने BJP पदाधिकारी ही बैठ गए दरी पर





''किसान सम्मान यात्रा में किसानों की भीड़ नहीं जुट सकी तो स्थिति संभालने, कार्यक्रम में किसानों की उपस्थिति दिखाने के लिए भाजपा के कई पदाधिकारियों को खुद ही किसानों के लिए जमीन पर बिछी दरी पर बैठना पड़ा. पार्टी के इतने बड़े पदाधिकारी के सामने किसानों की कम भीड़ से भाजपा छत्रपों के चेहरे पर मायूसी नजर आई.''

पिपरिया. प्रदेश भर में निकाली जा रही किसान सम्मान यात्रा को लेकर होशंगाबाद जिले की पिपरिया तहसील के गाँव रामपुर में अजीब स्थिति उस समय निर्मित हो गई जब भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष रणवीर सिंह रावत यात्रा में शामिल हुए परंतु इस कार्यक्रम में किसानों की भीड़ नहीं जुट सकी. स्थिति संभालने, कार्यक्रम में किसानों की उपस्थिति दिखाने के लिए भाजपा के कई पदाधिकारियों को खुद ही किसानों के लिए जमीन पर बिछी दरी पर बैठना पड़ा. पार्टी के इतने बड़े पदाधिकारी के सामने किसानों की कम भीड़ से भाजपा छत्रपों के चेहरे पर मायूसी नजर आई.''

किसान सम्मान यात्रा में किसानों की कम उपस्थिति पर जब बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण नापित से बात की गई तो उन्होंने किसान सम्मान यात्रा में किसानों की कम उपस्थिति स्वीकार किया, लेकिन कम उपस्थिति के पीछे किसानों के फसल कटवाने, फसल उपार्जन जैसे कामों के अलावा विवाह समारोह आदि में व्यस्त होना बताया, साथ ही यह कह कर कि हमारा उद्देश्य कार्यक्रम में भीड़ जुटाना नहीं है. हम किसानों का घर घर जाकर उनके कार्य के लिए उनका सम्मान कर रहे हैं. कमी छिपाने का प्रयास किया गया. 

वहीँ किसानों की मानें तो वह जनप्रतिनिधियों के काम टालने के रवैये से बहुत परेशान हैं. दरसअल उन्हें हर सरकारी कार्यालय में काम कराने के लिए अधिकारियों के कई चक्कर काटने पड़ते हैं. उनका कहना है कि चुनाव के समय यह नेता सरकार के गुणगान गाने चले आते हैं, परंतु जब बाद में इनसे किसी काम की बोलो तो यह पहचानते नहीं हैं.
देखें वीडियो - 





Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc