सोशल मीडिया में विवादित पोस्ट/ शेयर व कमेन्ट पर होगी दंडात्मक कार्यवाही, भ्रम में आकर जिलेवासी न बने बंद का हिस्सा -कलेक्टर



इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के. ये देश है तुम्हारा, नेता तुम ही हो कल के. दुनिया के रंज सहना और कुछ ना मुँह से कहना, सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना... की तर्ज पर सिवनी में कलेक्टर गोपालचंद डाड ने कहा कि यह जिला हम सभी का है हम सभी इसके रहवासी हैं, जिले में हर धर्म/समाज का सम्मान हो, आपसी प्रेम भाईचारा बना रहे, यह हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है। श्री डाड भारत बंद के आव्हान के मद्देनजर जिले में शांति के लिए आयोजित शांति समिति बैठक को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा किसी भी व्यक्तिगत स्वार्थ या बहकावे भ्रम की स्थिति में बिगड़ना कानूनी व्यवस्था के विरूद्व है। जिले में शांति समरसता भाव को लेकर कंट्रोल रूम में आयोजित जिला स्तरीय शांति समिति बैठक में सभी वर्गो सामाजिक संगठन प्रमुखों की उपस्थिति में उन्होंने कहा कि विगत 2 अप्रैल में हुए भारत बंद में प्रदेश व देश विभिन्न स्थानों में हुई घटनायें निदंनीय है। किसी भी भ्रम की स्थिति में अनियंत्रित भीड़ का हिस्सा बनना गलत है तथा दंडनीय भी है। किसी भी बात के संपूर्ण बात को जाने बगैर विगत भारत बंद आंदोलन में लोग जुड़े थे। जिसमें प्रकरण के वास्तुस्थिति की कोई भी जानकारी नही थी। 

बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री तरूण नायक ने सभी उपस्थिति को जानकारी देते हुए बताया कि उच्चतम न्यायालय द्वारा अनुसूचित जाति- जनजाति एक्ट में किसी भी संशोधन नहीं किया गया है, न्यायालय द्वारा सिर्फ कार्यवाही की गाइडलाइन निर्धारित की गई है। यह एक्ट पहले जैसा ही प्रभावशाली है। जघन्य अपराधों पर अब भी डीएसपी लेबल के अधिकारी कार्यवाही प्रकरणों में की जायेगी। प्रमुखता असामाजिक तत्वों द्वारा अपने व्यक्तिगत स्वार्थ हेतु एक्ट को लेकर अफवाह फैलाई है। जिसमें सोशल मीडिया का प्रमुख योगदान रहा है। अत: सभी किसी भी विवादित पोस्ट का हिस्सा न बने। न ही इसे शेयर करें। 

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया में यदि कोई भी व्यक्ति विवादि पोस्ट करता या उसे शेयर या कमेन्ट करता पाया जाता है तो उस पर कठोर दंडात्मक कार्यवाही होगी। उन्होंने बताया कि आज दिनांक तक कथित 10 अप्रैल भारत बंद रैली के लिए किसी भी संगठन द्वारा कोई भी अनुमति आवेदन प्रस्तुत नहीं किया गया है। अत: कोई भी व्यक्ति द्वारा आयोजित होने वाली रैली या जुलूस अवैधानिक होगा। अत: इस पर कोई भी व्यक्ति भाग न ले। सभी अपने आस पास के युवाओं को अनिवार्यत: सचेत करें कि वह पूर्ण सोच समझकर ही कदम उठाये। जिले में आपसी सौहार्द, शांति अमन कायम करने में सहयोगी बने। किसी भी विवादित पोस्ट से बचे। धर्म जाति वर्ग से ऊपर उठकर आपसी बंधुता को बढ़ावा दें।     
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc