अपनी ही सरकार में BJP विधायक धरना पर बैठे, पर पांसा उलटा पड़ा


प्रदेश में लगातार 14 साल से सत्ता में रहने के बाद भी BJP नेता विपक्ष की भाषा नहीं भूल सके हैं या फिर यह कहा जाए कि वे चुनावी मोड में आ गए हैं. इस समय BJP का सबसे ज्यादा फोकस किसानों पर जा रहा है, लेकिन इतनी भी क्या जल्दबाजी कि उलटे फिल्म पिट जाए. ऐसा ही कुछ माखन नगर होशंगाबाद में देखने को मिला, जब अपनी ही सरकार में BJP विधायक विजयपाल सिंह किसानों के साथ धरना पर बैठ गए और बोले कि किसानों के लिए उन्हें आत्मदाह भी करना पड़े, तो करूंगा. पर पांसा उलटा पड़ा. 

माखन नगर होशंगाबाद में जब कुछ गांव के किसान गेंहूं खरीदी केंद्र पर व्यवस्था ठीक नहीं होने से परेशान हो रहे थे, तब विधायक जी पहुंचे और किसानों के साथ नान डीएमओ योगेन्द्र सिंह को निलंबित करने की मांग को लेकर धरना पर बैठ गए और बोले कि किसानों के लिए उन्हें आत्मदाह भी करना पड़े, तो करूंगा. बाबई तहसील कार्यालय के सामने धरने पर बैठे विधायक विजयपाल सिंह का कहना रहा कि जब तक डीएमओ योगेन्द्र सिंह को निलंबित कर  जांच के आदेश नहीं हो जाते वे आमरण अनशन पर रहेंगे. मौके पर तहसीलदार आलोक पारे ने विधायक विजयपाल सिंह को बताया कि व्यवस्था जल्द ही ठीक कर ली जायेगी. बाद में धरना समाप्त कर दिया गया. 

मामले पर लोगों का कहना रहा कि आपकी सरकार है, समस्याएं कौन सुलझाएगा? धरने की राजनीति से अब काम चलने वाला नहीं है. वहीं पूर्व विधायक सविता दीवान ने तंज कसा कि यह नाकारा सरकार है, जिसमें मुख्यमंत्री के चेहेते विधायक को छोटी सी मांग के लिए भूंख हड़ताल पर बैठना पड़ रहा है.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc