लड़कियों पर तो नजर रखिये ही, साथ ही पतियों, बेटों और भाईयों पर भी नजर रखिये! क्या पता कब किसी के शौक का खिलौना बन जाएँ


Related image




''जितना ही आजकल का माहौल हर पल बलात्कार और शोषण दुष्कर्म को लेकर उबल रहा है , हमारे ही समाज में एक और आन्दोलन की जरूरत है. मैं एक बहुत ही कडुबी सच्चाई और आस पास से बटोरे अनुभव को साझा करने जा रही हूँ, हो सकता है बहुतों के विरोध का सामना करना पड़े, पर मैं किसी के विरोध से नहीं डरती और बेबाक लिखती हूँ चाहे मेरी कविता हो या फिर कुछ और!''

@ सीमा "मधुरिमा", लखनऊ Social writer


भी दो दिन पहले कुछ डॉक्टर्स के बीच बैठी तो ये तथाकथित टोपिक उठा, उनमें से एक ने बताया,"अभी एक साल पहले की बात है एक चौदह पन्द्रह साल की लड़की आई लोहिया होस्पिटल में मेडिकल चेकअप करवाने और लगातार किसी के द्वारा खुद पर रेप की कंप्लेंट कर रही थी, वो खुद इतनी तेज तर्रार लग रही थी और लगातार बिना किसी शर्म के पटर-पटर बोले जा रही थी, हम सब अवाक थे, भला इसका रेप हुआ लग रहा है! बाद में हमारी सीनियर मेम उसे चेक करने अंदर ले गयीं, तो वो दंग रह गयीं, ये जानकर कि वो लड़की शायद सालों से प्रेक्टिस में थी, पहले तो मेम ने उससे पूछना चाहा, पर कुछ सोच चुप रह गयीं.''

वो आगे बोलीं, वो लड़की एक जाति विशेष से थी और उसे किसी ने बताया था कि ये रिपोर्ट लिखवाने पर तुम्हें 75 हजार रूपये मिल सकते हैं, उसी लालच में आई थी! फिर एक दूसरी डॉक्टर ने खुलासा किया कि आये दिन कम उम्र की लड़कियाँ इमरजेंसी पिल लेने आती रहती हैं!


आज समय ये आ गया है कि यदि आपके पति किसी अच्छी नौकरी में या बिज़निस में हैं तो लोग उनको खुले आम ऑफर करते हैं, आज अपने घर की लड़कियों पर तो नजर रखिये ही साथ ही अपने पतियों और बेटों, भाईयों पर भी नजर रखिये! क्या पता किसके शौक का खिलौना बन जाएँ और फिर जब नाराजगी पैदा हो तो उनके खिलाफ एक केस तैयार हो जाय!



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc