पूर्व मंत्री ने दलितों के लिए उठाई अलग देश की मांग, कहा- हमें 'हरिजिस्तान' चाहिए

बिहार के पूर्व मंत्री ने दलितों के लिए अलग देश की मांग उठाई, कहा- हमें 'हरिजिस्तान' चाहिए

''अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) कानून का दुरुपयोग रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट के हाल के फैसले को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक तरफ जहां दलित समुदाय के लोगों ने भारत बंद करके अपना विरोध जताया था, वहीं बिहार के एक नेता ने दलितों के लिए अलग देश की मांग कर दी है.'' 

मुजफ्फरपुर. बिहार के पूर्व मंत्री और दलित नेता रमई राम ने अनुसूचित जाति और जनजाति समुदाय के लिए अलग राज्य 'हरिजिस्तान' की मांग की है. पूर्व मंत्री रमई राम ने आज बुधवार को कहा, "देश में अनुसूचित जाति एवं जनजाति को मिले संवैधानिक अधिकारों को छीना जा रहा है. उनके मान-सम्मान को ठेस पहुंचाया जा रहा है, इसलिए हमें 'हरिजिस्तान' चाहिए." 

उन्होंने दो दिन पूर्व 'भारत बंद' के दौरान मारे गए लोगों को शहीद का दर्जा दिए जाने की भी मांग की है. राम जनता दल (यूनाइटेड) के वरिष्ठ नेता हैं, जो पूर्व अध्यक्ष शरद यादव के पार्टी से बाहर जाने के बाद उनके साथ चले गए.

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc