युवाओं ने भरा दम, कहा 'हम हैं माई के लाल' तो पीछे के रास्ते से निकल गए 'कोई माई का लाल...' कहने वाले शिवराज



भोपाल. अखिल भारतीय ब्राह्मण संगठन के तत्वाधान में यहाँ निकाली जा रही भगवान परशुराम रैली के दौरान कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जब मंच पर भाषण देने आए तब बड़ी संख्या में ब्राह्मण युवाओं द्वारा जातिगत आरक्षण मुर्दाबाद, पदोन्नति में आरक्षण मुर्दाबाद, 'हम है माई के लाल' के नारे लगा कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का विरोध किया गया और साथ में आरक्षण मुर्दाबाद लिखी तख्तियां दिखाई गईं.

युवाओं का विरोध प्रदर्शन इतना बढ़ गया कि उसे देखकर आयोजक हैरान रह गए और मुख्यमंत्री को अपना भाषण बीच में छोड़कर जाना पड़ा. आयोजकों ने उन्हें पीछे के रास्ते से निकाला. मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पहुँचते ही बड़ी संख्या में युवा 'हम हैं माई के लाल' के नारे लगाने लग गए थे, जो कि लगातार लगाते रहे.  

अखिल भारतीय ब्राह्मण संगठन द्वारा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी भगवान परशुराम रैली के दौरान कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था. उल्लेखनीय है कि  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आरक्षण के पक्ष में हैं और कोई माई का लाल आरक्षण खत्म नहीं कर सकता कह चुके हैं, उनके इस 'कोई माई का लाल' को लेकर युवा कह रहे हैं कि  मुख्यमंत्री जी आपने हमारी माताओं को ललकारा है. 


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc