भाजपा स्थापना दिवस समारोह में अटल जी को श्रद्धांजलि




''समारोह के पोस्टर बैनर से लगभग गायब रहे यहाँ तक तो ठीक था, लेकिन हद तो तब हो गई जब उन्हें श्रद्धांजलि दे दी गई...''

शुक्रवार 6 अप्रेल को भारतीय जनता पार्टी ने देश भर में अपना स्थापना दिवस मनाया. स्थापना दिवस के समारोहों और इस अवसर पर लगाए गए पोस्टर बैनर से बीजेपी के वरिष्ठ नेता अटल जी, आडवाणी जी और मुरली मनोहर जोशी जी लगभग गायब रहे. यहाँ तक तो फिर ठीक था, लेकिन बिहार के बक्सर में भाजपा स्थापना दिवस समारोह में तो हद ही हो गई. यहाँ आयोजित समारोह में श्यामाप्रसाद मुखर्जी और दीन दयाल उपाध्याय के साथ वरिष्ठ नेता अटल जी को भी श्रद्धांजलि दे दी गयी. 

अब इसे अज्ञानता कहा जा रहा है. अब कहें कुछ भी, पर एक बड़ी चूक है. ऐसा नहीं होना चाहिए था. पार्टी में लगभग हाशिये पर धकेल दिए गए के कारण ऐसी गलती हुई माना जा रहा है

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को पूरे देश भर में भारतीय जनता पार्टी ने धूमधाम से अपना 38वां स्थापना दिवस मनाया. इस दिन देश में जगह-जगह कई बड़े छोटे कार्यक्रम आयोजित किए गए और पार्टी की नींव रखने वाले नेताओं दीनदयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि भी दी गई, लेकिन इस बीच देश के एक राज्य बिहार में जहाँ BJP समर्थित सरकार है, में पार्टी कार्यकर्ताओं से ऐसी गलती हो गई कि सोशल मीडिया पर इनका बहुत मजाक उड़ रहा है. यहाँ आयोजित समारोह में श्यामाप्रसाद मुखर्जी और दीन दयाल उपाध्याय के साथ वरिष्ठ नेता अटल जी को भी श्रद्धांजलि दे दी गयी.

बक्सर में बीजेपी के स्थापना दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में पार्टी के जिलाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह को आमंत्रित किया गया था. राणा प्रताप कार्यक्रम में पहुंचे और मंच पर रखी दीनदयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी की तस्वीर पर तो फूल माला चढ़ाई, लेकिन इसके बाद उन्होंने  इन दोनों नेताओं की तस्वीर के आगे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर रखी थी, राणा प्रताप सिंह ने उनकी तस्वीर पर भी फूल माला चढ़ा दी. शायद राणा प्रताप सिंह भूल गए कि अटल जी बीमार जरूर हैं, लेकिन अभी जिंदा हैं.



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc