बड़े लोगों के साथ सोए बिना रिपोर्टर नहीं बन सकती महिला पत्रकार, बीजेपी नेता ने शेयर की पोस्ट

शब्द अश्लील हैं, खबर लगाना उचित नहीं लग रहा, लेकिन फिर गंदी सोच के इन जैसे लोग एक्सपोज कैसे होंगे? इसलिए ये खबर प्रस्तुत है-
खबर साभार : जनसत्ता 


बीजेपी नेता एस वी शेखर ने फेसबुक पोस्ट में दावा किया कि ''कोई भी महिला बड़े लोगों के साथ सोए बिना न्यूज रीडर या रिपोर्टर नहीं बन सकती। इतना ही नहीं उन्होंने यहाँ तक लिखा कि मीडिया के लोग तमिलनाडु के तुच्छ, नीच और असभ्य जन हैं। कुछ अपवाद हैं। मैं सिर्फ उनकी इज्जत करता हूं, अन्यथा तमिलनाडु का पूरा मीडिया अपराधियों, धूर्तों और ब्लैकमेलर्स के हाथ में है।''
अब लोग कह रहे हैं ''ऐसे बयान देने वालों का एक ही इलाज है इनका मुँह काला करके गधे पर सवारी निकाली जाए....!''


                                                                  चेन्नई से अरुण जनार्दनन    

चेन्नई में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक महिला पत्रकार के गाल छूने की वजह से उपजे विवाद के बाद तमिलनाडु के गवर्नर बनवारी लाल पुरोहित ने माफी मांगी थी। हालांकि, इसके एक दिन बाद वरिष्ठ बीजेपी नेता एस वी शेखर ने गुरुवार को एक विवादास्पद फेसबुक पोस्ट शेयर किया। इसमें महिला पत्रकारों को लेकर अभद्र टिप्पणियां थीं। इस फेसबुक पोस्ट का शीर्षक था, ‘मदुरई यूनिवर्सिटी, गवर्नर एंड द वर्जिन चीक्स ऑफ ए गर्ल।’ इस पोस्ट में दावा है कि कोई भी महिला बड़े लोगों के साथ सोए बिना न्यूज रीडर या रिपोर्टर नहीं बन सकती। बता दें कि चेन्नई के पत्रकारों ने शेखर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। ये पत्रकार शुक्रवार को बीजेपी राज्य मुख्यालय के सामने प्रदर्शन करेंगे।

फेसबुक पोस्ट में लिखा है, “हाल ही में की गई शिकायतों से कड़वी सच्चाई बाहर आ चुकी है। इन (गाली) महिलाओं ने गवर्नर पर सवाल उठाए हैं। मीडिया के लोग तमिलनाडु के तुच्छ, नीच और असभ्य जन हैं। कुछ अपवाद हैं। मैं सिर्फ उनकी इज्जत करता हूं, अन्यथा तमिलनाडु का पूरा मीडिया अपराधियों, धूर्तों और ब्लैकमेलर्स के हाथ में है।” शेखर ने फेसबुक पोस्ट की शुरुआत में इसका क्रेडिट ‘थिरूमलाई एस’ नाम के शख्स को दिया है। शेखर ने द इंडियन एक्सप्रेस से बताया कि थिरूमलाई अमेरिका में एक ‘धुर बीजेपी समर्थक’ है। उन्होंने बताया, “अमेरिका जाने के दौरान मेरी उनसे मुलाकात हुई। उन्होंने मुझे बताया कि वह पीएम नरेंद्र मोदी के समर्थक हैं।” शेखर ने आगे कहा, “शेयर करने से पहले मैंने पोस्ट पूरी तरह से नहीं पढ़ी। मैं कभी किसी को गाली नहीं दूंगा। मैं उस पोस्ट को डिलीट करना चाहता था, लेकिन फेसबुक ने ब्लॉक कर दिया है। मैं अगले 24 घंटे तक फेसबुक अकाउंट नहीं खोल सकता।”

बता दें कि तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित द्वारा एक महिला पत्रकार के गाल छूने पर बड़ा विवाद हो गया था। इसके बाद राज्यपाल ने महिला पत्रकार को चिट्ठी लिखकर माफी मांगी थी। राज्यपाल ने लिखा कि महिला पत्रकार उनकी पोती के समान है। राज्यपाल ने यह भी कहा था कि वह भी पत्रकारिता के पेशे से 40 सालों तक जुड़े रहे हैं। घटना मंगलवार की है, जब एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महिला पत्रकार लक्ष्मी सुब्रमण्यन ने तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित से सवाल पूछा था। इस पर राज्यपाल ने जवाब न देते हुए महिला पत्रकार का गाल छू लिया था।



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc