राजस्व समीक्षा बैठक : चुनाव सर पे हैं और आज भी बंद एसी कमरों में हवाहवाई बैठकों में मस्त है सरकार




 सीधी बात  @ बलभद्र मिश्रा     
 
आंकड़ेबाजी में उलझी सरकार, खुशफहमी कि सब कुछ ठीक ठीक चल रहा है. सच यह है कि आज भी लाखों किसान अपनी अर्जियां हाथ में लिए  तहसील कार्यालयों में भटक रहे हैं.

''चुनाव सर पे हैं और आज भी बंद एसी कमरों में सरकार हवाहवाई बैठकों में मस्त है. बंद एसी कमरों में अपने सलाहकारों की सलाह पर चल रही है सरकार, मैदान की हकीकत से अभी भी रूबरू नहीं हो रही. बात कर रहे हैं राजस्व समीक्षा बैठक की.''

आज 10 अप्रेल को मंत्रालय में राजस्व समीक्षा बैठक रखी गई. इसमें राजस्व अधिकारियों ने सरकार को बताया कि विशेष अभियान चलाकर 12 लाख से अधिक नामांतरण प्रकरणों का निपटारा करा दिया गया है. 1 लाख से अधिक सीमांकन प्रकरणों का निराकरण करा दिए हैं. इसी प्रकार साढ़े 4 करोड़ से अधिक खसरा वी 1 का वितरण करा दिया गया है. विभाग लगातार कृषकों के हित में सकारात्मक कार्य कर रहा है और बेहतर परिणाम दे रहा है. जानकारी पाकर सरकार खुश हो गई है. मंत्री जी के चेहरे की भी चमक बढ़ गई है.

सच्चाई यह है कि इस खबर को आज दिनांक 11 अप्रेल तक जनसंपर्क विभाग अपनी बेबसाइट पर भी जगह नहीं दे रहा है. 2 फोटो भर डाल दिए हैं एक केप्शन के साथ कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में राजस्व विभाग की समीक्षा बैठक ली, बस हो गई समीक्षा बैठक. फोटो भी ऐसे कि जो खुद ही अलग कहानी कहते दिख रहे हैं. न तो यह जानने की कोई कोशिश की जा रही कि क्या यही मैदानी हकीकत है? या कुछ और, जो कि मैदान में जाने से ही मिलेगी और न ही यह बात आई कि अब तक इतने लाख मामले पेंडिंग क्यों थे?

सच यह है कि न ही इतने मामले निपटे हैं, सब आंकड़ेबाजी है और न ही सब कुछ ठीक ठीक चल रहा है.
 
सच यह है कि आज भी लाखों किसान अपनी अर्जियां लिए भटक रहे हैं, जो कि किसी भी तहसील कार्यालय में हाथ में लिए मिल जायेंगे.

''एसी कमरों से निकलो सरकार, जागो कि कहीं देर न हो जाए महाराज'' 

साभार : janjagran



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc