ब्राह्मण नेताओं के लिए गले की फांस बना आरक्षण, राज्यमंत्री रमेश शर्मा को ब्राह्मण युवाओं ने घेरा


दो तरफ़ा रहने वाले ब्राह्मण नेताओं के लिए गले की फांस बना आरक्षण, असामाजिक तत्व बताने वाले रमेश शर्मा को कहना पड़ा 'जवान फिसल गई थी, मैं सरकार से मांग करूँगा कि आरक्षण को आर्थिक आधार पे किया जाये' 

आरक्षण को लेकर देश भर में जंग छिड़ी हुई है. वहीं मध्यप्रदेश में खासकर दो तरफ़ा रहने वाले ब्राह्मण नेताओं के लिए यह गले की फांस बनता जा रहा है. दो तरफ़ा रहने के चक्कर में उनकी भद्द भी पिट रही है. 

हाल में मंत्री गोपाल भार्गव एक कार्यक्रम में अन्दर का सच बोल तो गए, लेकिन बहुत जल्द सत्ता की कुर्सी के लालच में पलट गए. इनके अलावा भी कई ब्राह्मण नेता जो जातिगत आरक्षण के पक्ष में नहीं हैं, लेकिन सत्ता के करीब रहकर लाभ उठा रहे हैं, सो कुछ बोल नहीं पा रहे. BJP के ब्राह्मण नेता हितेश बाजपेयी अवश्य पार्टी गाइड लाइन से हट कर जातिगत आरक्षण की मुखालफत कर अपनी बात पर डटे हैं. 

आरक्षण पर दो तरफ़ा रहने वाले सत्ता की मलाई चाट रहे नेता अब अनारक्षित ब्राह्मण समाज के युवाओं के टार्गेट पर आ गए हैं. हाल में रीवा के शैलेन्द्र तिवारी ग्रुप के युवाओं ने राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त रमेश शर्मा, को बुरी तरह घेर लिया,  जिन्होंने ब्राह्मण युवाओं को आरक्षण के खिलाफ 16 अप्रैल के कार्यक्रम में शिवराज का विरोध करने पर असामाजिक तत्व कहा था. समाज के युवाओं ने इनसे जवाब मांगा कौन असामाजिक तत्व है? तो आखिरकार श्री शर्मा को कहना पड़ा कि जवान फिसल गई थी, गलती से मेरे मुंह से निकल गया था. मैं सरकार से मांग करूँगा कि आरक्षण को आर्थिक आधार पे किया जाय. 

ब्राह्मण समाज के युवा रीवा के शैलेन्द्र तिवारी द्वारा राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त रमेश शर्मा का वीडियो भी बना कर सोशल मीडिया पर लाइव किया गया है, जो तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो पर बहुत कम समय में 15 हजार से अधिक लोगों द्वारा देखा गया है. 443 लोग शेयर किये हैं और वीडियो पर सैकड़ों कमेन्ट हैं. 

Shailendra Tiwari की वाल से 
पूरा वीडियो देखें- 
https://www.facebook.com/shailendra.tiwari.5203/videos/1223123787824794/


Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc