'गुपचुप' पर नहीं लगी है 'GST'

Image result for पानी पूरी

गुपचुप गुपचुप खाऊँगी
चुप चुप चुप पाऊँगी
गोल गोल गाल फूला
सबको दिखलाऊँगी
ऊपर से पुदिने का
सोमरस चढ़ाऊँगी
ईमली का खट्टा मिठ्ठा
स्वाद का मजा लूँगी!

पानी पुरी का नाम सुनते ही
मुहँ में पानी आ जाता
सुबह हो या शाम हो
ओठों पर कभी ना नाम हो
जब ठोले वाला पानी पुरी
बेचने आता तो दूर से ही
सब बच्चों को पता चल जाता
पानीपुरी वाला आ रहा है
बताऊँ बताऊँ कैसे
उसके ठेले की घंटी से!

फुचका आटा और सुजी से बनता
छोटी छोटी करारी करारी पुरियाँ
हर उम्र के लोगों को भाँती
पर बच्चों और महिला की
मनपसंद व्यंजन बन जाती!

पहले दस रूपैये में दस
खाने को मिलता था
मँहगाई की जो मार पड़ी
दस में केवल चार मिलता है
मेरा छोटा पेट नहीं भर पाता
पाकेटमॉनी भी पापा मम्मी से
ज्यादा नहीं मिलता है बस
टिफिन का एक डब्बा मिलता है

जो खा कर मैं बोर हो चुका
मैं तो बस गुपचुप खाउँगा

ओ गुपचुप वाले थोड़ा रेट
सही सही लगा दो भाई
जीएसटी तो नहीं लगा दी
मोदी चाचा की सरकार ने!

                                         कुमारी अर्चना, पूर्णियाँ,बिहार   

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc