रामदेव से मुश्किल सवाल पूछना महंगा पड़ गया पत्रकार को

Image result for पुण्य प्रसून बाजपेयी


मीडिया मालिकों द्वारा मोदी भक्ति में लीन होते जाने के इस दौर में खरी बात कहना-पूछना भी गुनाह बन गया है. खबर है कि पुण्य प्रसून बाजपेयी की आजतक न्यूज चैनल से इसलिए छुट्टी कर दी गई, क्योंकि उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बाबा रामदेव से कुछ मुश्किल सवाल पूछ लिए थे. इस सवाल से रामदेव भड़क गए थे. सूत्रों का कहना है बाद में बाबा ने आजतक के मालिकों से संपर्क साधा और चैनल को दिए जाने वाले सारे विज्ञापन बंद करने की धमकी देते हुए पुण्य प्रसून बाजपेयी को सबक सिखाने हेतु दबाव बनाया.

चर्चा है कि प्रबंधन ने आनन-फानन में बैठक कर पुण्य प्रसून बाजपेयी को तलब कर लिया और उनसे जवाब मांगा गया. पुण्य प्रसून बाजपेयी के दस्तक नामक बुलेटिन को भी छोटा कर दिया गया. अंतत: ऐसा माहौल क्रिएट किया गया जिससे पुण्य प्रसून बाजपेयी के लिए काम करना मुश्किल हो गया. तब उन्होंने प्रबंधन को इस्तीफा थमा दिया.


पुण्य प्रसून इसके पहले भी आजतक छोड़ चुके हैं. वे तब सहारा और जी न्यूज की यात्रा करते हुए दुबारा आजतक लौटे थे. कहा जा रहा है कि पुण्य कई न्यूज चैनलों के मालिकों के संपर्क में हैं. उनकी बातचीत एबीपी न्यूज, इंडिया न्यूज समेत कई चैनलों के कर्ताधर्ताओं से चल रही है. फिलहाल आजतक न्यूज चैनल का कोई भी शख्स पुण्य प्रसून के इस्तीफे को लेकर कुछ भी आन द रिकार्ड बोलने के लिए तैयार नहीं है. भड़ास ने पुण्य प्रसून को फोन कर उनसे बात करने की कोशिश की लेकिन उनने फोन नहीं उठाया.


पुण्य प्रसून बाजपेयी टीवी के ऐसे पत्रकार हैं जिन्हें राइट विंग के नेता आंखों की किरकिरी के रूप में देखते हैं. पुण्य प्रसून बेबाक और तीखा बोलने के लिए जाने जाते हैं. नेता उनके सामने बोलते-इंटरव्यू देते खुद को असहज महसूस करने लगते हैं. आजकल की भक्ति पत्रकारिता के दौर में पुण्य प्रसून जैसे बेबाक पत्रकार थोड़े-से ही हैं, जिन्हें सत्ता और प्रबंधन का गठजोड़ मिलकर किनारे लगा देना चाहता है.

आकाश नागर 

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc