मेघालय में करिश्मा, महज 2 सीट लेकर BJP सत्ता में


मेघालय में भी राजग सरकार, कांग्रेस के हाथ से सत्ता फिसली

21 सीटें जीतकर भी कांग्रेस सत्ता से बाहर, महज 2 सीट लेकर BJP सत्ता में. मेघालय में कैसे हो सका ये करिश्मा, जानिये-  

शिलांग। मेघालय में 21 सीटें जीतकर भी कांग्रेस सत्ता से दूर रह गई और महज दो विधायकों के साथ भाजपा सरकार में शामिल होने जा रही है। एनपीपी अध्यक्ष कॉनराड संगमा ने 34 विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए राज्यपाल गंगा प्रसाद के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। मेघालय के मतदाताओं ने किसी एक पार्टी को सरकार बनाने के लिए जनादेश नहीं दिया है।

कांग्रेस को जहां सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं, वहीं भाजपा की सहयोगी पार्टी एनपीपी 19 सीटों के साथ विधानसभा में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। एनपीपी मणिपुर और केंद्र सरकार में भी भाजपा की सहयोगी पार्टी है। और यूडीपी राजग के पूर्वोत्तर के गठबंधन नेडा का हिस्सा है। इसी के साथ 21 राज्यों में भाजपा या उसकी सहयोगी पार्टी की सरकारों का रास्ता साफ हो गया है।

संगमा ने रविवार शाम एनपीपी (19), भाजपा (2), यूडीपी (6), एचएसपीडीपी (2), पीडीएफ (4) और एक निर्दलीय विधायक का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंप दिया। राजभवन की ओर से औपचारिकताओं का इंतजार किया जा रहा है। लेकिन, संगमा का मुख्यमंत्री बनना तय है।

60 सदस्यीय विधानसभा में 59 सीटों के लिए वोट डाले गए थे। राकांपा उम्मीदवार की धमाके में मौत के चलते एक सीट पर चुनाव नहीं हुआ था। राजभवन के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए संगमा ने कहा कि हमने राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है। गठबंधन सरकार की चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हालांकि यह आसान काम नहीं होगा। लेकिन, सरकार बनाने के लिए समर्थन दे रही पार्टियों ने राज्य की भलाई के लिए मिलकर काम करने का संकल्प लिया है।

Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc