आने वाले समय में सोशल मीडिया अधिक महत्वपूर्ण होगा जनसम्पर्क आयुक्त श्री पी. नरहरि



''आने वाले समय में सोशल मीडिया और भी अत्यन्त महत्वपूर्ण होगा, इसके लिये जनसम्पर्क विभाग को तैयारी रखना अत्यंत आवश्यक है। सभी जनसम्पर्क अधिकारी मंत्रालय स्तर से होने वाली ट्वीट एवं फेसबुक कंटेंट को रीट्वीट व शेयर करेंगे। ऐसी स्थिति में अधिकारियों को इंटरनेट मीडिया का उपयोग करते समय सावधानी बरतें। कोई भी आपत्तिजनक वस्तु न तो शेयर होना चाहिये, न ही उस पर कोई कमेंट किया जाना चाहिये।''


यह बात जनसम्पर्क आयुक्त श्री पी. नरहरि ने उज्जैन संभाग के सभी जिलों के जनसंपर्क अधिकारियों के साथ उज्जैन में समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने उज्जयिनी होटल में स्थानीय प्रेस के सम्पादकों से सौजन्य भेंट की। उन्होंने सांध्य दैनिक 6पीएम के संपादक पं. राजेश जोशी से विशेष चर्चा में कहा कि संभागीय समीक्षा बैठक का शुभारंभ बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन से ही किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि हर संभागीय मुख्यालय पर यह समीक्षा बैठक आयोजित हो, इसकी रूपरेखा तैयार की जा रही है। 

आयुक्त श्री नरहरि ने चर्चा में बताया कि अब जनसम्पर्क विभाग पत्रकार कल्याण के मुद्दों पर विशेष ध्यान देगा एवं अधिमान्यता, स्वास्थ्य बीमा आदि योजनाओं का दायरा भी बढ़ाएगा। स्वास्थ्य बीमा योजना का विस्तार कर पत्रकारों के माता-पिता को भी इस योजना से जोड़ने की बात श्री नरहरि ने कही। उन्होंने कहा कि जनसम्पर्क विभाग द्वारा समय-समय पर पत्रकारों को विकास योजनाओं का अवलोकन कराने के लिये क्षेत्र भ्रमण पर ले जाया जायेगा। 

उन्होंने बताया कि आज हुई बैठक में उज्जैन संभाग के सभी जनसम्पर्क अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे निकट भविष्य में फेसबुक, ट्विटर आदि पर अपना अकाउंट खोलें एवं सोशल मीडिया के माध्यम से शासकीय योजनाओं का जनहित में व्यापक प्रचार-प्रसार करें। इसके लिये उन्होंने प्रत्येक जनसम्पर्क कार्यालय में सोशल मीडिया विंग खोलने के निर्देश भी दिये हैं।

उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जनसम्पर्क अधिकारियों को मुख्यालय स्तर पर सोशल मीडिया संचालन का प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि आज उज्जैन संभाग की समीक्षा बैठक में सभी अधिकारियों को बताया गया है कि शीघ्र ही प्रत्येक जिले में कलेक्टर तथा संभाग स्तर पर संभागायुक्त के फेसबुक एवं ट्विटर अकाउंट खोले जायेंगे तथा इनके संचालन में सहयोग का कार्य जनसम्पर्क अधिकारियों को करना होगा। 

आयुक्त जनसम्पर्क ने प्रत्येक जिले से जारी होने वाले समाचारों एवं सफलता की कहानी की समीक्षा भी की है व निर्देश भी दिये है कि केन्द्र एवं राज्य सरकार की फ्लेगशिप योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। उन्होंने मुख्यमंत्री हैल्पलाइन, जनसुनवाई से होने वाले लाभ का भी व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश जनसंपर्क अधिकारियों को दिये है।

आयुक्त जनसम्पर्क ने प्रत्येक जिले में पत्रकारों एवं प्रशासन के मध्य सामन्जस्य बनाने के लिये त्रैमासिक बैठकों का आयोजन करने, अन्तर्जिला एवं अन्तर्संभागीय प्रेसटूर आयोजित करने, पत्रकार कल्याण के प्रकरणों का तुरन्त निराकरण करने तथा समय पर अधिमान्यता समिति की बैठकें आयोजित करने के निर्देश भी दिये है। 
Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc