कड़ाके की ठण्ड में खुले आसमान के नीचे रात गुजार रहे हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा



मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के गाडरवारा में निर्माणाधीन NTPC पॉवर प्लांट के विरोध की आवाज भले ही भोपाल और दिल्ली के हुक्मरान जानबूझ कर अनसुना कर रहे हों, लेकिन इस आंदोलन में शामिल एक नेता ऐसे भी हैं, जो कड़ाके की ठण्ड में खुले आसमान के नीचे किसानों के साथ कलेक्ट्रेट के बाहर रात गुजार रहे हैं. 

दिनभर प्रदर्शन के बाद रात को सादगीपूर्ण किसानों के साथ भोजन करते दिखाई पड़े पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की सादगी देखते ही बनती है. महीने भर में सिन्हा का यह दूसरा प्रवास है. विस्थापित किसानों को जमीन का उचित मुआवजा, नौकरी समेत दूसरी मांगों को लेकर लगातार कई महीनों से आंदोलन जारी है. .राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के प्रमुख शिवकुमार शर्मा कक्का जी पूरे दमखम के साथ पीड़ित किसानों के साथ डटे हुए हैं. 

एनटीपीसी नरसिंहपुर में 4 × 660 मेगावॉट (2640 मेगावॉट) ताप विद्युत संयंत्र की स्थापना कर रहा है. इसके पूर्व सानों की जमीन अधिग्रहण के समय उनके एक सदस्य को नौकरी का वादा किया गया था, जिसे अब वह पूरा नहीं कर रहा है. इसी बात को लेकर जब विरोध व्यक्त करने प्रदर्शन किया गया तो उन पर पुलिस ने लाठियां भांज दीं, गिरफ्तार किया गया, तब  और किसानों ने  गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग की. किसानों ने खून निकाल कर कलेक्ट्रेट के गेट पर फेंका. पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा है कि जनरल डायर की तर्ज पर किसानों का दमन कर रहा है नरसिंहपुर पुलिस और जिला प्रशासन. 

मोहित श्रीवास्तव 



Share on Google Plus

News Digital India 18

पाठकों के सुझाव सदा हमारे लिए महत्वपूर्ण है ..

0 comments:

Post a Comment

abc abc